नोबेल विजेता की भविष्यवाणी, कहा- जल्द खत्म होने वाली है कोरोना की त्रासदी

corona
नोबेल विजेता की भविष्यवाणी, कहा- जल्द खत्म होने वाली है कोरोना की त्रासदी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के देश में 649 मामले सामने आ चुके हैं। इसी बीच बड़ी खबर सामने आ रही है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बायोफिजिसिस्ट और नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट ने कोरोना वायरस को लेकर एक भविष्यवाणी है। उनका कहना है कि कोरोना वायरस से जितना बुरा होना था, वह हो चुका है और अब धीरे-धीरे हालात सुधरेंगे।

Coronavirus Pandemic Will End Soon Says Nobel Prize Winner Predicts :

उनका कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग ने दुनिया को एक बूस्टर दिया है। केमिस्ट्री में 2013 का नोबेल पुरस्कार जीतने वाले लेविट ने इससे पहले कोरोना वायरस के बारे में भविष्यवाणी की थी कि कोरोना वायरस महामारी के रूप में फैलेगा। एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ” हमें कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने की आवश्यकता है, लेकिन अब सब ठीक होने जा रहा है।”

उन्होंने कहा कि “फिलाहल मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है, लेकिन जल्द ही इसमें सुधार होगा और दुनिया से कोरोना का संकट दूर होगा” जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार अब अमेरिका में अब तक कोरोना के 35,224 मामले सामने आ चुके हैं साथ ही 471 लोगों की मौत हो चुकी है।

वहीं वैश्विक स्तर पर अब तक 4 लाख के करीब लोग संक्रमित हैं। साथ करीब 17000 लोगों की मौत हो चुकी है। लेविट ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फ्लू के खिलाफ टीकाकरण करवाना भी जरूरी है। इससे पहले जब चीन ने कोविड-19 से हुई मौत के बारे में जानकारी देना शुरू की थी। तब भी उन्होंने एक आशावादी रिपोर्ट भेजी थी।

उन्होंने लगभग 80,000 मामलों और 3,250 मौतों की कुल संख्या के साथ फरवरी के मध्य में भविष्यवाणी की थी। उनकी भविष्यवाणी सही साबित हुई। 16 मार्च तक चीन में कोरोना संक्रमित कुल 80,298 मामले थे और 3,245 लोगों की मौते के आंकड़े सामने आए थे।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के देश में 649 मामले सामने आ चुके हैं। इसी बीच बड़ी खबर सामने आ रही है। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के बायोफिजिसिस्ट और नोबेल पुरस्कार विजेता माइकल लेविट ने कोरोना वायरस को लेकर एक भविष्यवाणी है। उनका कहना है कि कोरोना वायरस से जितना बुरा होना था, वह हो चुका है और अब धीरे-धीरे हालात सुधरेंगे। उनका कहना है कि सोशल डिस्टेंसिंग ने दुनिया को एक बूस्टर दिया है। केमिस्ट्री में 2013 का नोबेल पुरस्कार जीतने वाले लेविट ने इससे पहले कोरोना वायरस के बारे में भविष्यवाणी की थी कि कोरोना वायरस महामारी के रूप में फैलेगा। एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, " हमें कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने की आवश्यकता है, लेकिन अब सब ठीक होने जा रहा है।" उन्होंने कहा कि "फिलाहल मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है, लेकिन जल्द ही इसमें सुधार होगा और दुनिया से कोरोना का संकट दूर होगा'' जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के अनुसार अब अमेरिका में अब तक कोरोना के 35,224 मामले सामने आ चुके हैं साथ ही 471 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं वैश्विक स्तर पर अब तक 4 लाख के करीब लोग संक्रमित हैं। साथ करीब 17000 लोगों की मौत हो चुकी है। लेविट ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के साथ फ्लू के खिलाफ टीकाकरण करवाना भी जरूरी है। इससे पहले जब चीन ने कोविड-19 से हुई मौत के बारे में जानकारी देना शुरू की थी। तब भी उन्होंने एक आशावादी रिपोर्ट भेजी थी। उन्होंने लगभग 80,000 मामलों और 3,250 मौतों की कुल संख्या के साथ फरवरी के मध्य में भविष्यवाणी की थी। उनकी भविष्यवाणी सही साबित हुई। 16 मार्च तक चीन में कोरोना संक्रमित कुल 80,298 मामले थे और 3,245 लोगों की मौते के आंकड़े सामने आए थे।