घूस लेते धरे गए डॉक्टर साहब, फिर पानी के साथ निगल गए 2000 का नोट

घूस लेते धरे गए
घूस लेते धरे गए डॉक्टर साहब, फिर पानी के साथ निगल गए 2000 का नोट

अहमदाबाद। गुजरात के पाटन जिले में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने एक भ्रष्टाचारी डॉक्टर को रंगे हाथों 2000 रूपए की घूस लेते दबोचा। इससे पहले कि एसीबी के अधिकारी डॉक्टर से घूस में लिए गए नोट को बरामद करती आरोपी ने नोट को निगल कर पानी पी लिया। जिसके बाद से अधिकारी डॉक्टर के पेट से नोट निकालने के ​लिए जतन कर रहे हैं।

मामला पाटन जिले के एक पशु चिकित्सालय का है। जहां तैनात पशुचिकित्सक की घूसखोरी की शिकायत मिलने पर एसीबी की टीम ने एक जाल बुना। एसीबी की योजना के मुताबिक डॉक्टर साहब को 2000 रुपए की घूस दी गई। जैसे ही डॉक्टर साहब को इस बात का अहसास हुआ कि वह जाल में फंस गया है, उसने तुरंत ही नोट को पानी के साथ निगल लिया।

{ यह भी पढ़ें:- शिरडी के साईं मंदिर में प्रकट हुए 'बाबा', जानिये क्या है सच्चाई }

एसीबी के अधिकारियों की माने तो डॉक्टर ने जिस नोट को निगला है उसका नंबर उनके पास मौजूद है। जब तक नोट बरामद नहीं होता डॉक्टर के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा सकती। स्थानीय चिकित्सकों की मदद से अधिकारी घूसखोर डॉक्टर के पेट से नोट निकालने का प्रयास कर रही है।डॉक्टर के पेट में मौजूद नोट ही इस मामले का मुख्य साक्ष्य है। जिसके हाथ लगने के बाद ही आरोपी पशु चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई हो सकेगी।

एसीबी के अधिकारियों का कहना है कि यह अपने आप में पहला मामला है जब किसी दोषी सरकारी कर्मचारी ने रंगेहाथ पकड़े जाने के बाद घूस की रकम को निगल लिया हो। अधिकांश मामलों में घूस की रकम ज्यादा होती है, कई मामलों में देखने को मिला है कि पकड़े जाने के बाद दोषी कर्मचारी नोटों के बंडल को फेंक देते हैं। इसीलिए एसीबी जिन नोटों को अपने आपॅरेशन में प्रयोग करती है, उनके नंबर पहले ही नोट कर लिए जाते हैं। नोटों पर एक विशेष प्रकार के कैमिकल बेस्ड पाउड का प्रयोग किया जाता है। जिससे कि घूस लेने वाले व्यक्ति की उंगलियों के निशान उन नोटों पर या नोट के बंडल पर छप जाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- शादी की पहली रात दुल्हन से हैवानियत, प्राइवेट पार्ट में डाली लोहे की नुकीली रॉड }

अहमदाबाद। गुजरात के पाटन जिले में एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) ने एक भ्रष्टाचारी डॉक्टर को रंगे हाथों 2000 रूपए की घूस लेते दबोचा। इससे पहले कि एसीबी के अधिकारी डॉक्टर से घूस में लिए गए नोट को बरामद करती आरोपी ने नोट को निगल कर पानी पी लिया। जिसके बाद से अधिकारी डॉक्टर के पेट से नोट निकालने के ​लिए जतन कर रहे हैं। मामला पाटन जिले के एक पशु चिकित्सालय का है। जहां तैनात पशुचिकित्सक की घूसखोरी की शिकायत…
Loading...