अमेठी में रिश्वत की रेस: ‘उगाही और कमाई’ का जरिया बनी पीएम आवास योजना, वीडियो वायरल

Corruption In Pradhanmantri Awas Yojana Amethi

अमेठी: पुरानी कहावत है कि भ्रष्टाचार करने वाले लहरें भी गिनकर अपनी जेबें भर लेते हैं इस भ्रष्टाचार का दीमक अब प्रधानमंत्री आवास योजना पर भी लग गया है। इस योजना में बड़ा घोटाला अब यूपी के अमेठी जिले में लगातार देखने को मिल रहा है। केन्द्र सरकार ने बड़े जोर-शोर से पीएम आवास योजना शुरू की मगर अमेठी में तो जमीनी स्तर पर उसकी हकीकत कुछ और है। अमेठी के मुसाफिरखाना विकासखण्ड के गाँव जमुवारी व शाहगढ़ में इसकी बानगी देखने को मिली है। हालांकि प्रशासन इस मामले में अब शिकायत के बाद चेता है और मामला दर्ज कराने की बात कही जा रही है।

अमेठी में प्रशासन पीएम आवास योजना में भ्रष्टाचार की कुछ लपटें बुझाने में मशगूल ही था कि एक बार फिर से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक कथित वीडियो ने अमेठी में इस योजना की कलई खोल दी। सरकार ने देश से भ्रष्टाचार को समाप्त करने और नौकरशाही पर लगाम कसने के लिए गांवों मे पंचायतीराज को लागू किया है। सारे अधिकार पंचायतो को दे दिए हैं ताकि गांव का प्रधान या सरपंच गांव में विकास का बयार ला सके और लोगों को ज्यादा से ज्यादा से लाभ मिल सके लेकिन अमेठी मे सोशल मीडिया वायरल हो एक कथित वीडियो से तो ऐसा लग रहा है कि पंचायतीराज के जरिये मिली शक्तियों का यहाँ जमकर दुरूपयोग किया जा रहा है।

कालोनी दिलवाने के एवज प्रधान को पांच हजार रुपये देने की बात –

वायरल वीडियो में एक वृद्ध व्यक्ति कुछ लोगो को आपसी बातचीत में बता रहा है कि पीएम आवास योजना के अंर्तगत मिले आवास में उसने अपने ग्राम प्रधान को पांच हजार रुपये देने की बात कह रहा है। बुजुर्ग का कहना है कि मैं झूठ नही बोलूंगा की मैंने इनको उनको पैसा दिया है बल्कि हामी भर ये भी बता रहा है कि हमने प्रधान को ही पैसा दिया है बात कर रहे व्यक्तियों के आवास की मजदूरी को लेकर सवाल पूछने पर बुजुर्ग बता रहा है कि अभी आवास योजना की मजदूरी खाते में नही आयी है और सूचना है अबकी बार खाता सिंगल होने की दशा में दूसरे के खाते पर मजदूरी आएगी।

…….औरो ने दिए 12000 रुपये-

यही नही बृद्ध व्यक्ति ये भी बता रहा है कि कल हमसे और पैसे की मांग हो रही थी बात कर रहे व्यक्तियों से दूसरे मोहल्ले के लोगो द्वारा 12000 हजार रुपये की दिए जाने की बात कह रहा है।

जब हमने पड़ताल की तो पता चला कि….

वायरल हो रहे इस कथित वीडियो की जब हमने पड़ताल की तो पता चला कि ये वीडियो मुसाफिरखाना तहसील के ग्राम सभा करपिया का है और लोगो से बात कर रहा बुजुर्ग करपिया गाँव निवासी राम रतन धोबी है।

हालांकि हम वायरल हो रहे इस कथित वीडियो की किसी भी तरह से पुष्टि नही करते लेकिन केंद्र सरकार द्वारा चलायी जा रही प्रधानमंत्री आवास योजना जिसके तहत गरीबों को उसके सपनों का अशियाना दिया जा रहा है मगर जब योजना को धरातल पर उतारने की बात आती है तो कई बार पंचायत मित्र,ग्राम प्रधान व सरकारी कर्मियों द्वारा लाभार्थियों के शोषण करने का मुद्दा भी सामने आता है और हंगामा के साथ सोशल मीडिया पर भी वायरल होता है।

बोले जिम्मेदार-

अभी हमने वायरल हो रहे वीडियो को नही देखा है वायरल हो रहे वीडियो को संज्ञान लेकर मामले की जांचकर कड़ी कार्यवाही की जायेगी- राहुल सिंह सीडीओ अमेठी

रिपोर्ट-राम मिश्रा/दिलीप तिवारी

अमेठी: पुरानी कहावत है कि भ्रष्टाचार करने वाले लहरें भी गिनकर अपनी जेबें भर लेते हैं इस भ्रष्टाचार का दीमक अब प्रधानमंत्री आवास योजना पर भी लग गया है। इस योजना में बड़ा घोटाला अब यूपी के अमेठी जिले में लगातार देखने को मिल रहा है। केन्द्र सरकार ने बड़े जोर-शोर से पीएम आवास योजना शुरू की मगर अमेठी में तो जमीनी स्तर पर उसकी हकीकत कुछ और है। अमेठी के मुसाफिरखाना विकासखण्ड के गाँव जमुवारी व शाहगढ़ में इसकी…