लखनऊ प्रेमी युगल के शव पेड़ से लटके मिले, आनर कीलिंग की आशंका

15573168049811160859350

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के माल इलाके के रहने वाले एक प्रेमी युगल के शव मलिहाबाद इलाके में पेड़ से एक ही रस्सी से लटकते मिले। युवती की 30 मई को शादी थी। पुलिस प्रेमी युगल की मौत को आत्महत्या मान रही है। वहीं गांव में आनर कीलिंग को लेकर भी चर्चा है। पुलिस का कहना है कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है।

Couple Dead Bodies Recovered Hanging Form Tree :

माल के सहिजना निबारी गांव में किसान छोटेलाल और परशुराम अपने-अपने परिवार संग रहते हैं। बताया जाता है कि छोटेलाल के बेटे 20 वर्षीय रंजीत उर्फ सत्यपाल और परशुराम की बेटी 20 वर्षीय रजनी के बीच कुछ समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे पर रजनी के परिवार वाले इस रिश्ते के लिए राजी नहीं थे। उन लोगों ने रजनी की शादी कहीं और तय कर दी थी और 30 मई को बारात आनी थी। रजनी दूसरी शादी के लिए तैयार नहीं थी। वह रंजीत से शादी की बात पर एड़ी थी। बताया जाता है कि बुधवार की सुबह रंजनी घर से शौच की बात कहकर निकली थी। इसके बाद वह गायब हो गयी। रजनी जब काफी देर घर नहीं लौटी तो परिवार वालों ने उसको इधर-उधर तलाशना शुरू किया।

रंजीत भी अचानक हुआ गायब
रजनी के परिवार के लोग जब उसको तलाश रहे थे तो उन लोगों को पता चला कि रंजीत भी अपने घर पर नहीं है। दोनों परिवार वालों को यकीन हो गया कि दोनों एक साथ गायब हुए हैं। इसके बाद दोनों के परिवार वालों और ग्रामीणों ने मिलकर दोनों को तलाशना शुरू किया।

एक किलोमीटर दूर मिले दोनों के शव
परिवार के लोग रंजनी और रंजीत को तलाशते हुए गांव से एक किलोमीटर दूर मलिहाबाद के फुल्लौर गांव पहुंच गये। फुल्लौर गांव में ज्ञानेन्द्र सिंह की आम की बाग में रजनी और रंजीत के शव एक पेड़ में एक ही रस्सी के दो छोर से एक साथ लटकते मिले। प्रेमी युगल की आत्महत्या की खबर जब उनके घर पहुंची तो वहां कोहराम मच गया। पल भर में यह खबर आग की तरह पूरे इलाके में फेल गयी। सूचना मिलते ही मौके पर मलिहाबाद पुलिस भी पहुंच गयी। छानबीन के बाद पुलिस ने दोनों की मौत को आत्महत्या बताते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

होली पर पूणे से आया था रंजीत
मलिहाबाद पुलिस को छानबीन में इस बात का पता चला कि रंजीत पूणे में एक ढाबे पर काम करता था। होली के मौके पर वह घर आया था। इसके बाद वह वापस पूणे नहीं गया। घर पर रहकर रंजीत मेहनत मजदूरी करने लगा। वहीं रजनी भी परिवार के साथ काम में हाथ बंटाती थी।

गांव में कई तरह की चर्चा
प्रेमी युगल की मौत को लेकर गांव में कई तरह की चर्चा है। अधिकतर लोग दोनों की मौत को आत्महत्या मान रहे है पर कुछ लोगों का कहना है कि रंजीत और रजनी के पैर पर चोट के निशान थे। कुछ लोग दोनों की मौत को आनन कीलिंग मान रहे हैं , पर पुलिस ने इस बात से साफ इनकार किया है। इंस्पेक्टर मलिहाबाद का कहना है कि दोनों ने आत्महत्या की है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की सही वजह पता चल जायेगी।

लखनऊ । उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के माल इलाके के रहने वाले एक प्रेमी युगल के शव मलिहाबाद इलाके में पेड़ से एक ही रस्सी से लटकते मिले। युवती की 30 मई को शादी थी। पुलिस प्रेमी युगल की मौत को आत्महत्या मान रही है। वहीं गांव में आनर कीलिंग को लेकर भी चर्चा है। पुलिस का कहना है कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। माल के सहिजना निबारी गांव में किसान छोटेलाल और परशुराम अपने-अपने परिवार संग रहते हैं। बताया जाता है कि छोटेलाल के बेटे 20 वर्षीय रंजीत उर्फ सत्यपाल और परशुराम की बेटी 20 वर्षीय रजनी के बीच कुछ समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों एक दूसरे से शादी करना चाहते थे पर रजनी के परिवार वाले इस रिश्ते के लिए राजी नहीं थे। उन लोगों ने रजनी की शादी कहीं और तय कर दी थी और 30 मई को बारात आनी थी। रजनी दूसरी शादी के लिए तैयार नहीं थी। वह रंजीत से शादी की बात पर एड़ी थी। बताया जाता है कि बुधवार की सुबह रंजनी घर से शौच की बात कहकर निकली थी। इसके बाद वह गायब हो गयी। रजनी जब काफी देर घर नहीं लौटी तो परिवार वालों ने उसको इधर-उधर तलाशना शुरू किया। रंजीत भी अचानक हुआ गायब रजनी के परिवार के लोग जब उसको तलाश रहे थे तो उन लोगों को पता चला कि रंजीत भी अपने घर पर नहीं है। दोनों परिवार वालों को यकीन हो गया कि दोनों एक साथ गायब हुए हैं। इसके बाद दोनों के परिवार वालों और ग्रामीणों ने मिलकर दोनों को तलाशना शुरू किया। एक किलोमीटर दूर मिले दोनों के शव परिवार के लोग रंजनी और रंजीत को तलाशते हुए गांव से एक किलोमीटर दूर मलिहाबाद के फुल्लौर गांव पहुंच गये। फुल्लौर गांव में ज्ञानेन्द्र सिंह की आम की बाग में रजनी और रंजीत के शव एक पेड़ में एक ही रस्सी के दो छोर से एक साथ लटकते मिले। प्रेमी युगल की आत्महत्या की खबर जब उनके घर पहुंची तो वहां कोहराम मच गया। पल भर में यह खबर आग की तरह पूरे इलाके में फेल गयी। सूचना मिलते ही मौके पर मलिहाबाद पुलिस भी पहुंच गयी। छानबीन के बाद पुलिस ने दोनों की मौत को आत्महत्या बताते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। होली पर पूणे से आया था रंजीत मलिहाबाद पुलिस को छानबीन में इस बात का पता चला कि रंजीत पूणे में एक ढाबे पर काम करता था। होली के मौके पर वह घर आया था। इसके बाद वह वापस पूणे नहीं गया। घर पर रहकर रंजीत मेहनत मजदूरी करने लगा। वहीं रजनी भी परिवार के साथ काम में हाथ बंटाती थी। गांव में कई तरह की चर्चा प्रेमी युगल की मौत को लेकर गांव में कई तरह की चर्चा है। अधिकतर लोग दोनों की मौत को आत्महत्या मान रहे है पर कुछ लोगों का कहना है कि रंजीत और रजनी के पैर पर चोट के निशान थे। कुछ लोग दोनों की मौत को आनन कीलिंग मान रहे हैं , पर पुलिस ने इस बात से साफ इनकार किया है। इंस्पेक्टर मलिहाबाद का कहना है कि दोनों ने आत्महत्या की है और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत की सही वजह पता चल जायेगी।