हैदराबाद में 11 साल पहले हुए धमाकों में 11 साल बाद आएगा फैसला

hydrabad bomb blast
हैदराबाद में 11 साल पहले हुए धमाकों में 11 साल बाद आएगा फैसला

हैदराबाद। हैदराबाद के गोकुल चाट और लुंबिन पार्क में ग्यारह साल पहले हुए दो बम धमाकों के मामले में आज फैसला सुनाया जाएगा। इस घटना में कुल 42 लोगों की दर्दनाक मौत हुई थी, जबकि सैकड़ो लोग घायल हो गए थे। जांच एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट कोर्ट को मुहैया भी करा दी, जिसके बाद ट्रायल चल रहा था।

Court Will Give Judgement After 11 Years In Haidrabad Blast Today :

बता दें कि इस सनसनीखेज मामले का ट्रायल बीते जून में नेमपल्ली कोर्ट कॉम्प्लैक्स स्थित एक अदालत से चेरापल्ली सेंट्रल जेल परिसर स्थित कोर्ट में शिफ्ट किया गया था। 7 अगस्त को जिरह और विरोधी पक्षों की दलील पूरी होने के बाद सेशन्स जज श्रीनिवास राव ने फैसले के लिए 27 अगस्त का दिन तय किया था।

उधर इन धमाकों के पीड़ितों के परिवार के सदस्यों और परिजन ने शनिवार को इसकी 11वीं बरसी मनाई। यह विस्फोट 25 अगस्त, 2007 को हुआ था। तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस (सीआई) ने इस मामले की जांच की थी और आरोपियों के खिलाफ तीन आरोप पत्र दायर किए थे। फिलहाल कुछ आरोपी भी अभी भी फरार बताए जा रहे है।

बता दें कि सेकेंड मेट्रोपोलिटन सेशन्स कोर्ट जज ने अगस्त 2013 में इंडियन मुजाहिदीन के गुर्गों अनीक शफीक सैयद, मोहम्मद सादिक, अकबर इस्माइल चौधरी और अंसार अहमद बादशाह शेख के खिलाफ आरोप तय किए थे।

हैदराबाद। हैदराबाद के गोकुल चाट और लुंबिन पार्क में ग्यारह साल पहले हुए दो बम धमाकों के मामले में आज फैसला सुनाया जाएगा। इस घटना में कुल 42 लोगों की दर्दनाक मौत हुई थी, जबकि सैकड़ो लोग घायल हो गए थे। जांच एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट कोर्ट को मुहैया भी करा दी, जिसके बाद ट्रायल चल रहा था।बता दें कि इस सनसनीखेज मामले का ट्रायल बीते जून में नेमपल्ली कोर्ट कॉम्प्लैक्स स्थित एक अदालत से चेरापल्ली सेंट्रल जेल परिसर स्थित कोर्ट में शिफ्ट किया गया था। 7 अगस्त को जिरह और विरोधी पक्षों की दलील पूरी होने के बाद सेशन्स जज श्रीनिवास राव ने फैसले के लिए 27 अगस्त का दिन तय किया था।उधर इन धमाकों के पीड़ितों के परिवार के सदस्यों और परिजन ने शनिवार को इसकी 11वीं बरसी मनाई। यह विस्फोट 25 अगस्त, 2007 को हुआ था। तेलंगाना पुलिस की काउंटर इंटेलिजेंस (सीआई) ने इस मामले की जांच की थी और आरोपियों के खिलाफ तीन आरोप पत्र दायर किए थे। फिलहाल कुछ आरोपी भी अभी भी फरार बताए जा रहे है।बता दें कि सेकेंड मेट्रोपोलिटन सेशन्स कोर्ट जज ने अगस्त 2013 में इंडियन मुजाहिदीन के गुर्गों अनीक शफीक सैयद, मोहम्मद सादिक, अकबर इस्माइल चौधरी और अंसार अहमद बादशाह शेख के खिलाफ आरोप तय किए थे।