1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Covid-19 : डॉ. रणदीप गुलेरिया बोले-देश में प्रतिबंधों की जरूरत नहीं, लोग न हो पैनिक

Covid-19 : डॉ. रणदीप गुलेरिया बोले-देश में प्रतिबंधों की जरूरत नहीं, लोग न हो पैनिक

Covid-19 :  दुनिया में  कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए भारत में, लोगों में डर साफ देखा जा रहा है। एहतियाती तौर पर मोदी  सरकार, स्थिति पर गंभीरता से नजर बनाए हुए है, मामलों के जीनोम सीक्वेंसिंग के निर्देश दिए गए हैं। देश में टेस्टिंग भी बढ़ा दी गई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Covid-19 :  दुनिया में  कोरोना के बिगड़ते हालात को देखते हुए भारत में, लोगों में डर साफ देखा जा रहा है। एहतियाती तौर पर मोदी  सरकार (Modi Government), स्थिति पर गंभीरता से नजर बनाए हुए है, मामलों के जीनोम सीक्वेंसिंग के निर्देश दिए गए हैं। देश में टेस्टिंग भी बढ़ा दी गई है।

पढ़ें :- Union Budget 2023: पीएम मोदी बोले-बजट विकसित भारत के विराट संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा

स्वास्थ्य विशेषज्ञ सभी लोगों से लगातार कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर(covid appropriate behavior) का पालन करते रहने की अपील कर रहे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि फिलहाल भारत में स्थिति काफी नियंत्रित है, लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

एम्स के पूर्व निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया (Former Director of AIIMS Dr. Randeep Guleria) बताया हैं, भारत में वर्तमान कोविड परिदृश्य को देखते हुए फिलहाल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को प्रतिबंधित करने या लॉकडाउन लगाने जैसी जरूरत नजर नहीं आती है।

न्यूज एजेंसी पीटीआई से बातचीत में डॉ. गुलेरिया ने बताया, भारतीय लोगों में ‘हाइब्रिड इम्युनिटी’ देखी जा रही है, ऐसे में अगर यहां संक्रमण बढ़ता भी है तो भी गंभीर मामले या रोगियों के अस्पालों में भर्ती होने की जरूरत नहीं होनी चाहिए। हालांकि सभी लोगों को बचाव के उपायों का लगातार पालन करते रहने की जरूरत है। थोड़ी सी सावधानी बरतकर हम संक्रमण की एक और लहर के जोखिम को कम कर सकते हैं। अच्छे टीकाकरण कवरेज और प्राकृतिक संक्रमण के कारण भारतीय आबादी में पहले से ही हाइब्रिड प्रतिरक्षा है, इसलिए लोगों को पैनिक नहीं होना चाहिए।
कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए हमें पहले से अलर्ट रहने की आवश्यकता

सफदरजंग अस्पताल में पल्मोनरी, क्रिटिकल केयर विभाग के डॉ नीरज गुप्ता कहते हैं, चीन और कुछ अन्य देशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए हमें पहले से अलर्ट रहने की आवश्यकता है। कोविड एप्रोप्रिएट बिहवियर जैसे मास्क लगाना, हाथों की स्वच्छता और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे उपाय भारत में संक्रमण के प्रसार को रोकने में मददगार हो सकते हैं।

पढ़ें :- कार्यालय छोड़ फील्ड पर उतरें अधिकारी, वरना निलम्बन को रहें तैयार : मण्डलायुक्त डाॅ. रोशन जैकब

पिछले वर्षों में जिस तरह से हमने कोविड को नियंत्रित किया है, टीकाकरण और संक्रमण के चलते लोगों में बेहतर प्रतिरक्षा देखी जा रही है, ऐसे में चिंता करने की जरूरत नहीं है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...