कोरोना : बिजली उपभोक्ताओं के घरों में अप्रैल में नहीं होगी मीटर रीडिंग

bijli
कोरोना : बिजली उपभोक्ताओं के घरों में अप्रैल में नहीं होगी मीटर रीडिंग

नई दिल्ली। कोरोना (coronavirus) महामारी (COVID-19 Pandemic) की वजह से पूरे देश हुए लॉकडाउन (Lock Down in India) को देखते हुए सरकार (Government of India) ने अब बिजली कंपनियों (Electricity Companies) के लिए राहत पैकेज जारी कर दिया है। 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने और बिल के लेट होने पर कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा।

Covid 19 Electricity Consumers Homes Will Not Have Meter Reading In April :

पावर कॉरपोरेशन के निदेशक (वाणिज्य) एके श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश के सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशकों को पत्र लिखकर सूचित किया है कि कोविड-19 के प्रभाव को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया है।

इसलिए अप्रैल माह में फील्ड मीटर रीडिंग नहीं हो पायेगी। इसलिए सभी बिल तीन माह के औसत उपभोग के आधार पर बनाये जाएंगे। इसके बाद उपभोक्ता को मैसेज के जरिये सूचित किया जाये। जिससे उपभोक्ता ऑनलाइन बिल www.upenergy.in/uppcl जमा कर सकें।

उन्होंने कहा कि ये बिल एनआर आधारित होंगे। अगली बिलिंग के समय रीडिंग पर आधारित बिल बनेगा। पूर्व जमा बिल का क्रेडिट डेबिट स्वत: ऑनलाइन हो जायेगा। उन्होंने बिलिंग एजेंसी को भी निर्देश दिया कि  अप्रैल माह में कोई मीटर रीडिंग उपभोक्ता के घर रीडिंग लेने व बिल वितरण के लिए नहीं जायेगा।

नई दिल्ली। कोरोना (coronavirus) महामारी (COVID-19 Pandemic) की वजह से पूरे देश हुए लॉकडाउन (Lock Down in India) को देखते हुए सरकार (Government of India) ने अब बिजली कंपनियों (Electricity Companies) के लिए राहत पैकेज जारी कर दिया है। 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने और बिल के लेट होने पर कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा। पावर कॉरपोरेशन के निदेशक (वाणिज्य) एके श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदेश के सभी डिस्कॉम के प्रबंध निदेशकों को पत्र लिखकर सूचित किया है कि कोविड-19 के प्रभाव को रोकने के लिए केंद्र सरकार ने 14 अप्रैल तक लॉकडाउन किया है। इसलिए अप्रैल माह में फील्ड मीटर रीडिंग नहीं हो पायेगी। इसलिए सभी बिल तीन माह के औसत उपभोग के आधार पर बनाये जाएंगे। इसके बाद उपभोक्ता को मैसेज के जरिये सूचित किया जाये। जिससे उपभोक्ता ऑनलाइन बिल www.upenergy.in/uppcl जमा कर सकें। उन्होंने कहा कि ये बिल एनआर आधारित होंगे। अगली बिलिंग के समय रीडिंग पर आधारित बिल बनेगा। पूर्व जमा बिल का क्रेडिट डेबिट स्वत: ऑनलाइन हो जायेगा। उन्होंने बिलिंग एजेंसी को भी निर्देश दिया कि  अप्रैल माह में कोई मीटर रीडिंग उपभोक्ता के घर रीडिंग लेने व बिल वितरण के लिए नहीं जायेगा।