महोबा में किशोरी को अपहरण के बाद मौत के घाट उतारा, दुष्कर्म की आशंका





लखनऊ। यूपी के महोबा में एक बड़ी वारदात सामने आई है। जहां इलाके के कुछ दबंगों ने पुरानी रंजिश के चलते घर में घुसकर नाबालिग लड़की को आधी रात अगवा कर लिया और उसकी हत्या कर शव को फेंक दिया। घटना की जानकारी होने के बाद से पूरे इलाके में दहशत का माहौल है।

मिली जानकारी के मुताबिक मामला महोबा जिले के कबरई कस्बे का हैं। जहां शंकरपुरवा मोहल्ले में दिहाड़ी कर गुजर बसर काने वाला देवराज कुशवाह अपने परिवार के साथ रहता है। मंगलवार को देवराज किसी काम के चलते घर से बाहर था और उसके घर पर पत्नी और 16 वर्षीय पुत्री अकेले थे। देवराज की पत्नी का कहना है देर रात जब वह सो रही थी तो कुछ लोग उसके घर में घुसे और उसकी बेटी के मुंह में कपड़ा ठूस कर उठा ले गए। जब तक वह जागी बदमाश फरार हो चुके थे। सुबह इस घटना की खबर फैलने के साथ जानकारी मिली कि उसकी बेटी का शव रामकुण्डा पहाड़ के पास पड़ा है।




नाबालिग का शव मिलने की खबर जैसे ही इलाके में फैली अफरा तफरी का माहौल बन गया। मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर महोबा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजेश सक्सेना सहित थाने का पुलिस बल पहुंच गया। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

कबरई पुलिस का कहना है कि पीड़ित परिवार की तहरीर पर सुनील सिंह, राजा सिंह और पिंटू सिंह के खिलाफ नामजद मामला दर्ज किया जा चुका है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो सकेगा कि किशोरी के साथ दुष्कर्म हुआ है या नहीं। फिलहाल अपहरण, हत्या और दुष्कर्म के प्रयास की धाराओं में मामला दर्ज हुआ है।




पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है​ कि नाबालिग का शव हत्या करने के बाद पहाड़ से फेंका गया है। लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से पहले यह स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता।

Loading...