पहले की फेसबुक के जरिये दोस्ती फिर मिलने के बहाने गैंगरेप

कानपुर: उत्तर प्रदेश में महिलाओं के साथ यौन अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला प्रदेश की औद्योगिक राजधानी कानपुर से है जहाँ एक लड़की को एक अपने फेसबुक मित्र से मिलना महंगा पड़ गया। कानपुर की एक महिला को उसके फेसबुक मित्र ने सर्राफ ने मदद का झांसा देकर गोरखपुर के बड़हलगंज बुला लिया। वहां एक होटल में दो दोस्तों के साथ मिलकर गैंगरेप कर डाला। महिला की शिकायत पर पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।



कानपुर के गोविन्द नगर की रहने वाली शादीशुदा महिला की दोस्ती फेसबुक पर बड़हलगंज के मनीष वर्मा से हुई थी। चैटिंग के दौरान दोनों की जान-पहचान बढ़ी तो वे मोबाइल फोन पर बात करने लगे। करीब एक महीने पहले महिला ने मनीष से 5 हजार रुपए मांगे थे। पैसे देने के लिए उसने महिला को गोरखपुर बुलाकर मुलाकात के बाद मनीष ने महिला को 4 हजार रुपए का चेक दिया लेकिन कुछ कमियों के कारण कैश नहीं हो सका। महिला ने उसे इस बात की जानकारी दी तो फिर मनीष ने महिला को गोरखपुर बुलाया वहां किसी होटल में मिलने को कहा| पैसे लेने के लिए सोमवार की दोपहर को वो पहुंची।




महिला होटल के उस कमरे में पहुंची जहां मनीष ने संपर्क करने को कहा था। आरोप है कि होटल में मनीष ने उसके साथ जबरदस्ती की बाद में नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन के भतीजे श्रवण जायसवाल और चुक्कन को भी बुला लिया। आरोप है कि इन दोनों ने भी महिला के साथ रेप किया। महिला के विरोध करने और शोर मचाने पर किसी ने पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस आने की भनक लगते ही श्रवण और चुक्कन भाग गए। जबकि मनीष वर्मा को होटल में ही पकड़ा गया। महिला ने तीनों के खिलाफ तहरीर दे दी। धोखे से बुलाकर गैंग रेप करने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। इंस्पेक्टर विजयराज सिंह ने दावा किया कि फरार आरोपी जल्द ही पकड़े जाएंगे।

आस्था सिंह की रिपोर्ट