अमेठी में जरायम का डंका: बेबस पुलिस, बेखौफ बदमाश

बेखौफ बदमाश
अमेठी में जरायम का डंका: बेबस पुलिस, बेखौफ बदमाश

Crime Out Of Control In Amethi

अमेठी: यूपी में सत्ता की कुर्सी पर बैठते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सूबे के अंदर कानून का राज कायम किया जाएगा यह बात वह कई मौकों पर दोहराते रहे लेकिन अपराधियों पर इसका कोई असर होता नहीं दिखाई दे रहा है। योगी सरकार का दावा है कि उसने चन्द दिनों में बदलाव की बुनियाद रख दी लेकिन आज ये बातें महज कागजी साबित हो रहीं हैं कानून-व्यवस्था के जिस बुनियादी सवाल पर बीजेपी सत्ता में आई, वो सवाल जस का तस है।

अमेठी में आपराधिक घटनाओ पर पुलिस का ब्रेक फेल-
सूबे के जिले अमेठी में आपराधिक घटनाओं पर पुलिस का ब्रेक फेल हो गया है बड़ी घटनाओं का सिलसिला अनवरत जारी है तीन दिनों के भीतर ही छात्र सहित दलित युवा प्रधान की हुई हत्या है,लेकिन किसी भी मामले में अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस की शिथिलता को उजागर हो रही हैें अमेठी में तीन दिनों के भीतर हुए डबल मर्डर की इन खबरों से हर अखबार रंगे पड़े हैं जिस पुलिस के कंधों पर अपराधियों से निपटने का जिम्मा है,योगी राज में अब बेबस नजर आ रही है ।

यूपी में सत्ता की कुर्सी पर बैठते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सूबे के अंदर कानून का राज कायम किया जाएगा यह बात वह कई मौकों पर दोहराते रहे लेकिन अपराधियों पर इसका कोई असर होता नहीं दिखाई दे रहा है।

अपराध से आजिज हुई अमेठी-
आज अमेठी में पत्रकार,छात्र,व्यापारी,सहित आमजनमानस भयभीत हैं महिलाएं असुरक्षितमहसूस कर रही है कारण कि बदमाश आते हैं गोली मारते हैं और लूटपाट करके भाग जाते हैं योगी राज में भी अमेठी में कानून व्यवस्था का यही हाल चल रहा है जिले में हत्या और लूटपाट जैसी घटनाए बदस्तूर जारी है उक्त घटनाएं अपराधियों के बैख़ौफ़ और पुलिस के बेबस होने का सबूत है अपराधी लगातार शासन को चुनौती दे रहें हैं !

जब सुर्ख रंग में तब्दील हुई अमेठी की धरा-
बीते 15 जनवरी को गौरीगंज विधान सभा के अंतर्गत शाहगढ़ ब्लॉक में बेख़ौफ़ बदमाशों ने बेहद निर्ममता से प्रधान संघ अध्यक्ष की हत्या कर दी हत्यारों ने भयावह तरीके से प्रधान संघ अध्यक्ष और दलित युवा प्रधान सुनील कुमार उर्फ सोनू को पहले गोली मारी व उसके पश्चात नृशंसता का परिचय देते हुए उसके कुछ अंगों को धार दार हथियार से काट डाला।

मातम की मकरसंक्रांति-
विदित हो कि बीते दिन मकर संक्रांति के अवसर एक ओर जहाँ जनपद वासी खिचड़ी भोज का आनंद ले रहे थे वहीं बेख़ौफ़ बदमाशों ने हिंदुस्तान समाचार के अमेठी ब्यूरो चीफ अजय सिंह के पुत्र की नृशंस हत्या करके शव को रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया था किंतु दो दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस के हाँथ आरोपियों के गिरफ्त तक नही पहुँच सके। वहीं इस सनसनी खेज घटना का जनपद वासी मातम ही मना रहे थे कि कांग्रेस के नवनियुक्त राष्ट्रिय अध्यक्ष के प्रथम संसदीय क्षेत्र आगमन के दूसरे दिन हत्यारों प्रधान संघ के अध्यक्ष की नृशंस हत्या कर कानून व्यवस्था को खुली चुनौती दे डाली।

अमेठी के पत्रकारों में रोष

अमेठी के पत्रकारों में रोष-
आपराधिक मामलों में हो रही वृद्धि से अमेठी की छवि प्रभावित हो रही है किसी के खून से हाथ रंगना या किसी का भरोसा तोड़ना अमेठी की संस्कृति का हिस्सा कभी भी नहीं रहा सभ्य समाज में अपराध और अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं होती ।

आज अमेठी के गौरीगंज मुख्यालय पर प्रेस क्लब की बैठक हुई जिसमें पत्रकार-पुत्र के हत्या प्रकरण में पुलिस की लचर कार्यशैली के विरोध में जनपद के पत्रकार लामबंद होते हुए जनपद पुलिस द्वारा बनाये गए व्हाट्सएप समूह के छोड़ दिया तथा हत्यारो को 3 दिन के भीतर गिरफ्तारी करने की बात कही सनद रहे इस मामले को लेकर पुलिस पर हीलाहवाली का गम्भीर आरोप है ।

रिपोर्ट@राम मिश्रा

अमेठी: यूपी में सत्ता की कुर्सी पर बैठते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि सूबे के अंदर कानून का राज कायम किया जाएगा यह बात वह कई मौकों पर दोहराते रहे लेकिन अपराधियों पर इसका कोई असर होता नहीं दिखाई दे रहा है। योगी सरकार का दावा है कि उसने चन्द दिनों में बदलाव की बुनियाद रख दी लेकिन आज ये बातें महज कागजी साबित हो रहीं हैं कानून-व्यवस्था के जिस बुनियादी सवाल पर बीजेपी सत्ता में आई,…