लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने मंगलवार को कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार में पुलिस का मनोबल बढ़ा है। प्रदेश में खूंखार और पेशेवर अपराधियों के मारे जाने से आम लोग राहत की सांस ले रहे हैं, वहीं दूसरी ओर अपराधी दहशत में हैं। प्रदेश की कानून व्यवस्था में भी शानदार सुधार हुआ है।

उन्होंने कहा कि पुलिस का रवैया पहले से बेहद संवेदनशील हुआ है। डायल 100 के पुलिसकर्मी ने खुद विपदा में फंसे होने के बावजूद एक घायल की जान बचाकर संवेदनशीलता का उदाहरण प्रस्तुत किया है। एक तरफ अपराधियों का साहस से मुकाबला और दूसरी तरफ आम लोगों की परेशानियों के प्रति संवेदनशीलता दिखाने के लिए यूपी पुलिस तारीफ के काबिल है।

{ यह भी पढ़ें:- भूमाफिया ने बारह लोगों को बेंच दी थाने की जमीन }

उन्होंने कहा कि लगातार हो रही मुठभेड़ों से साफ है कि प्रदेश में आम लोगों, बेगुनाहों और पुलिस पर जो अपराधी गोली चलाएंगे, वो पुलिस की गोली भी खाएंगे।महज 11 महीनों के भीतर 40 से ज्यादा खूंखार अपराधी मारे जा चुके हैं जबकि 13 सौ के करीब मुठभेड़ों में बदमाश जख्मी भी हुए हैं। इन साहसिक मुठभेडों में कई बहादुर पुलिस वाले भी जख्मी हुए हैं।

मेरठ में बुजुर्ग महिला की नृशंस हत्या के मामले का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि वारदात को अंजाम देने वाले बदमाशों को भी पुलिस ने महज पांच दिनों के भीतर ही मार गिराया। पुलिस के बढ़े हुए मनोबल का ही परिणाम है कि कुख्यात माफिया गिरोह अदालतों में न सिर्फ समर्पण कर रहे हैं बल्कि खुद को हथकड़ी में बांधकर लाने की गुहार लगा रहे हैं। ये वही माफिया है जो एक वक्त में आम नागरिकों से लेकर पुलिसकर्मियों तक पर गोली चलाने में संकोच नहीं करते थे। उनके मन में कानून का कोई खौफ नहीं था।

{ यह भी पढ़ें:- साहब! देर रात घर आकर म​हिलाओं व बेटियों से छेड़छाड करता हैं दारोगा }

उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने ऐसे माफियाओं और अपराधियों का मनोबल पूरी तरह तोड़ दिया है। ये अपराधी अब खौफ में हैं और जनता चैन की सांस ले रही है। यूपी पुलिस बहादुरी का उदाहरण पेश कर रही है।