महाराष्ट्र में संकट बरकरार: संजय राउत बोले- मुख्यमंत्री तो हमारा ही होगा

Sanjay raut
महाराष्ट्र में संकट बरकरार: संजय राउत बोले- मुख्यमंत्री तो हमारा ही होगा

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए आठ दिन बीत चुके हैं लेकिन नई सरकार को लेकर सस्पेंस अभी भी बरकरार है। शिवसेना ढाई साल तक मुख्यमंत्री पद की मांग पर अड़ी है। वहीं बीजेपी इस मसले पर कोई सौदेबाजी नहीं चाह रही है।

Crisis In Maharashtra Persists Sanjay Raut Said Chief Minister Will Be Ours :

इस बीच शुक्रवार को शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि बीजेपी को कोई ‘अल्टीमेटम’ नहीं देंगे, वे बड़े लोग हैं। हम चाहते हैं कि बीजेपी और शिवसेना के बीच जो बात चुनाव से पहले हुई थी वह बात आगे बड़े। महाराष्ट्र में स्थिर सरकार की जरूरत है।

इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने बृहस्पतिवार को राकांपा प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की जिससे राज्य में सरकार बनाने के एक नये विकल्प को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया।

शिवसेना के सूत्रों ने बताया कि राउत ने पवार के दक्षिणी मुंबई स्थित आवास पर उनसे मुलाकात की। इस मुलाकात ने राज्य में गैर भाजपा सरकार के गठन संबंधी विकल्प को लेकर अटकलें तेज हो गयी हैं। भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री को लेकर रस्साकशी काफी तेज हो गयी है।

भाजपा 105 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं। राज्य में सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत 145 है। हाल में हुए विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं।विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के दिन 24 अक्तूबर को भी राउत ने पवार से मुलाकात की थी किंतु शिवसेना सांसद ने इस ‘निजी मुलाकात करार दिया था।

मुंबई। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आए आठ दिन बीत चुके हैं लेकिन नई सरकार को लेकर सस्पेंस अभी भी बरकरार है। शिवसेना ढाई साल तक मुख्यमंत्री पद की मांग पर अड़ी है। वहीं बीजेपी इस मसले पर कोई सौदेबाजी नहीं चाह रही है। इस बीच शुक्रवार को शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। उन्होंने तंज भरे लहजे में कहा कि बीजेपी को कोई ‘अल्टीमेटम’ नहीं देंगे, वे बड़े लोग हैं। हम चाहते हैं कि बीजेपी और शिवसेना के बीच जो बात चुनाव से पहले हुई थी वह बात आगे बड़े। महाराष्ट्र में स्थिर सरकार की जरूरत है। इससे पहले शिवसेना नेता संजय राउत ने बृहस्पतिवार को राकांपा प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की जिससे राज्य में सरकार बनाने के एक नये विकल्प को लेकर अटकलों का बाजार गर्म हो गया। शिवसेना के सूत्रों ने बताया कि राउत ने पवार के दक्षिणी मुंबई स्थित आवास पर उनसे मुलाकात की। इस मुलाकात ने राज्य में गैर भाजपा सरकार के गठन संबंधी विकल्प को लेकर अटकलें तेज हो गयी हैं। भाजपा और शिवसेना के बीच मुख्यमंत्री को लेकर रस्साकशी काफी तेज हो गयी है। भाजपा 105 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। शिवसेना को 56 सीटें मिली हैं। राज्य में सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत 145 है। हाल में हुए विधानसभा चुनाव में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं।विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के दिन 24 अक्तूबर को भी राउत ने पवार से मुलाकात की थी किंतु शिवसेना सांसद ने इस 'निजी मुलाकात करार दिया था।