1. हिन्दी समाचार
  2. कर्नाटक सरकार पर संकट : बैठक में नहीं पहुंचे कांग्रेस के 21 विधायक, मंत्रीपद देने का दाव भी हुआ फेल

कर्नाटक सरकार पर संकट : बैठक में नहीं पहुंचे कांग्रेस के 21 विधायक, मंत्रीपद देने का दाव भी हुआ फेल

Crisis On Karnataka Government

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कर्नाटक सरकार पर संकट बढ़ाता जा रहा है। बागी विधायक मानने को तैयार नहीं हैं। ऐसे में बागी विधायकों के इस्तीफे पर विधानसभा अध्यक्ष फैसला ले सकते हैं। सियासी घटनाक्रम के बीच बंगलूरू में विधानसभा कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। इस बैठक में शामिल होने के लिए सिद्दारमैया, प्रियांका खड़गे और अन्य कांग्रेसी नेता पहुंचे हैं। वहीं, इस बैठक से 21 कांग्रेस विधायक गायब रहे। उधर, बागी विधायकों के अंडरग्राउंड होने की भी खबर है।

पढ़ें :- IPL 2020: आउट करने पर हार्दिक पांड्या से भिड़े क्रिस मौरिस, फिर जानिए क्या हुआ

उधर, कर्नाटक विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने इस संकट पर टिप्पणी की है। उन्होंने कहा कि जिस भी विधायक को इस्तीफा देना होगा, उन्हें मेरे पास आना ही होगा। अगर पोस्टल सर्विस से ही इस्तीफे मंजूर होंगे, तो यहां पर मेरा क्या काम है। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा कि इसके लिए कोई समय की पाबंदी नहीं है। मैं नियमों के अनुसार ही फैसला लूंगा।

सरकार बचाने के लिए बागी विधायकों को संतुष्ट करने के लिए गठबंधन ने उन्हें मंत्रीपद देने पर विचार किया था लेकिन ये दांव भी सफल नहीं हो पाया। बागी विधायकों ने कहा था कि, मौजूदा सरकार में मंत्री बनने का कोई फायदा नहीं है। कभी भी कांग्रेस सरकार की स्थिरता को हिलाया जा सकता है। भाजपा भी राज्य के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी से इस्तीफे की मांग कर रही है।

वहीं बीजेपी नेता शोभा करंदलाजे का कहना है कि, हमारी संख्या कांग्रेस—जेडीएस विधायकों से अधिक हैं। हम करीब 107 हैं, उनकी संख्या 103 है। मुझे लगता है कि राज्यपाल को सरकार बनाने के लिए भाजपा को बुलाने का फैसला करना चाहिए। वहीं बागी विधायकों के मुंबई और गोवा में मौजूद होने की संभावना है।

पढ़ें :- पाकिस्तान का सबसे बड़ा कुबूलनामा: मंत्री फवाद बोले-पुलवामा हमला इमरान सरकार की बड़ी कामयाबी

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...