1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर संकट, बीटीपी के दो विधायकों ने कांग्रेस से समर्थन लिया वापस

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर संकट, बीटीपी के दो विधायकों ने कांग्रेस से समर्थन लिया वापस

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर संकट के बादल छाने लगे हैं। पंचायत चुनाव में मिली हार के बाद भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार से समर्थन वापस ले लिया है। बीटीपी के दो विधायक लगातार गहलोत सरकार को समर्थन दे रहे थे। सरकार पर संकट के बादल मंडराने के बाद भी इन विधायकों ने कांग्रेस का साथ दिया था।

पढ़ें :- MSP का मुद्दा: केंद्र सरकार बातचीत के लिए हुई तैयार, मांगे 5 किसान नेताओं के नाम

राज्यसभा चुनाव में भी दोनों विधायक कांग्रेस के साथ रहे और के.सी.वेणुगोपाल व नीरज डांगी के पक्ष में मतदान किया था। लेकिन बृहस्पतिवार को हुए जिला परिषद चुनाव के बाद पार्टी ने कांग्रेस से समर्थन वापसी का मानस बना लिया। दरअसल, प्रदेश के आदिवासी डूंगरपुर जिले में जिला परिषद सदस्यों के चुनाव में बीटीपी को बहुमत मिला था। लेकिन बीटीपी का जिला प्रमुख बनने से रोकने के लिए कांग्रेस और भााजपा दोनों ने हाथ मिला लिया।

इस कारण बीटीपी का जिला प्रमुख नहीं बन सका और भाजपा ने अपना जिला प्रमुख बना लिया। यहां 27 सदस्यीय जिला परिषद में बीटीपी के 13 सदस्य जीते थे। बहुमत के लिए 1 सदस्य की जरूरत थी। लेकिन बीटीपी का आदिवासी इलाकों में बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए एक-दूसरे की विरोधी कांग्रेस और भाजपा साथ आ गई। 8 सदस्य जीतने के बावजूद भाजपा का जिला प्रमुख की सीट पर कब्जा हो गया, कांग्रेस ने उसे समर्थन दिया।

 

पढ़ें :- Corona new variant: सीएम योगी बोले-दूसरे देशों से आ रहे हर व्यक्ति की जांच की जाए
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...