सीआरपीएफ के जवान ने की थी अपहरण के बाद प्रापर्टी डीलर की हत्या

property dealers murder
सीआरपीएफ के जवान ने की थी अपहरण के बाद प्रापर्टी डीलर की हत्या
लखनऊ। राजधानी लखनऊ के कैसरबाग थानाक्षेत्र से एक माह पहले अपहरण कर मौत के घाट उतारे गए प्रापर्टी डीलर के मामले में पुलिस ने सीआरपीफ के जवान समेत तीन अभियुक्तों को ​गिरफ्तार कर ​लिया। आरोपितों ने बताया कि प्रापर्टी डीलर ने उन लोगों से पैसा ले लिया था और जमीन की ​रजिस्ट्री नही करवा रहा था। जिसक चलते उन लोगों ने उसकी हत्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने आरोपितों के पास से हत्या में प्रयुक्त कार, मृतक की मोटरसाइकिल व…

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के कैसरबाग थानाक्षेत्र से एक माह पहले अपहरण कर मौत के घाट उतारे गए प्रापर्टी डीलर के मामले में पुलिस ने सीआरपीफ के जवान समेत तीन अभियुक्तों को ​गिरफ्तार कर ​लिया। आरोपितों ने बताया कि प्रापर्टी डीलर ने उन लोगों से पैसा ले लिया था और जमीन की ​रजिस्ट्री नही करवा रहा था। जिसक चलते उन लोगों ने उसकी हत्या कर दी। फिलहाल पुलिस ने आरोपितों के पास से हत्या में प्रयुक्त कार, मृतक की मोटरसाइकिल व उसकी घड़ी बरामद कर ली है।

इंस्पेक्टर कैसरबाग ने बताया कि सरोजनीनगर के चिल्लावां बाजार में रहने वाले प्रापर्टी डीलर कमलेश का बीते बीते 17 ​फरवरी को इलाके से से अपहरण कर लिया था, इसके बाद उसका शव फिरोजाबाद जिले में बरामद हुआ। पुलिस ने इस मामले में कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन कोई सफलता नही मिल सकी। तब एसएसपी ने इसके ​खुलासे के लिए क्राइम ब्रांच को लगाया। जांच में जुटी टीम कड़ी से कड़ी जोड़कर हत्यारों तक पहुंच गई।

{ यह भी पढ़ें:- नहीं थम रहा मूर्ति तोड़ने का सिलसिला, अब फिरोजाबाद में फिर टूटी बाबा साहेब की प्रतिमा }

गिरफ्त में आए झारखंड में सीआरपीएफ में सिपाही के पद पर तैनात सरोजनीनगर के नटकुर गांव निवासी मनोज कुमार यादव, उन्नाव जिले के असोहा क्षेत्र निवासी कौशल किशोर यादव व अमेठी निवासी राहुल सिंह ने बताया कि वो लोग 17 फरवरी को जमीन दिखाने के लिए कमलेश को लेकर गए थे, जहां उसे जमकर शराब पिलाई।​ फिर कार में ही बंधक बनाकर उसे तीन गोलियां मारकर उसकी हत्या कर दी।

फिर आगरा एक्सप्रेस वे से ले जाकर फिरोजाबाद में फेंक दिया। कारण पूछने पर बताया कि कमलेश ने उन लोगों ने लाखों रूपए ले लिया और फिर जमीन की रजिस्ट्री भी नहीं करा रहा था। इंस्पेक्टर कैसरबाग डीके उपाध्याय ने बताया कि कमलेश ने कई लोगों से जमीन के लाखों रुपये ले लिए थे और रजिस्ट्री नहीं करा रहा था। फिलहाल कप्तान ने इस मामले में आरोपियों को गिरफ्तार करने वाली टीम को इनाम देने की घोषणा की है।

{ यह भी पढ़ें:- फिल्मी अंदाज में अरबपति कारोबारी किडनैप, छह घंटे में सकुशल बरामद }

Loading...