CRPF जवान की पत्नी ने गर्लफ्रेंड से कराई शादी, दोनों ने साथ में लिए सात फेरे

wife
CRPF जवान की पत्नी ने गर्लफ्रेंड से कराई शादी, दोनों साथ मे लिए 7 फेरे

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में शादी का एक अनोखा मामला सामने आया है। जशपुर के बघडोल ग्राम पंचायत में अजीबोगरीब शादी हुई। एक सीआरपीएफ जवान ने एक ही मंडप पर दो शादियां कीं। एक साथ हुई इस शादी में एक लड़की जवान की गर्लफ्रेंड थी तो दूसरी उसकी पत्नी थी। इसका मतलब है कि सीआरपीएफ जवान ने पत्नी और गर्लफ्रेंड के साथ शादी की।

Crpf Jawan Weds Girlfriend Wife Together Villagers Bemused :

प्रेम संबंधों की बात पता चलने पर पत्नी की रजामंदी के बाद परिवार और समाज की बैठक हुई। समाज की बैठक में अनिल की पत्नी ने किसी तरह की आपत्ति नहीं होने की बात कही, जिसके बाद अनिल और उसकी प्रेमिका की शादी का रास्ता साफ हो गया, लेकिन अनिल ने पहली पत्नी को भी नहीं छोड़ा। उसने दोनों के साथ एक ही मंडप में शादी कर ली।

पत्नी को हो गई जानकारी

अनिल चोरी-छिपे सीमा से मिलता था, लेकिन उसकी पत्नी को इसकी जानकारी हो गई। पत्नी ने अनिल से बात की और ये तय कर लिया कि पति की उसकी प्रेमिका से शादी करवाएगी। इसके बाद तीनों परिवारों के बीच बातचीत हुई और यह तय कर लिया गया अनिल और सीमा के शादी करा दी जाए, लेकिन फेरे उसकी पत्नी भी साथ लेगी।

पत्नी-प्रेमिका ने एक साथ लिए फेरे

फिर क्या था, तीनों के परिवार राजी हुए और रीति-रिवाज के साथ एक ही मंडप में अनिल की उसकी प्रेमिका और पत्नी दोनों से एक साथ शादी करवाई गई। मंडप में प्रेमिका और पत्नी दोनों दुल्हन बनकर बैठीं और साथ फेरों के साथ सात जन्मों का साथ निभाने का वादा किया।

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में शादी का एक अनोखा मामला सामने आया है। जशपुर के बघडोल ग्राम पंचायत में अजीबोगरीब शादी हुई। एक सीआरपीएफ जवान ने एक ही मंडप पर दो शादियां कीं। एक साथ हुई इस शादी में एक लड़की जवान की गर्लफ्रेंड थी तो दूसरी उसकी पत्नी थी। इसका मतलब है कि सीआरपीएफ जवान ने पत्नी और गर्लफ्रेंड के साथ शादी की। प्रेम संबंधों की बात पता चलने पर पत्नी की रजामंदी के बाद परिवार और समाज की बैठक हुई। समाज की बैठक में अनिल की पत्नी ने किसी तरह की आपत्ति नहीं होने की बात कही, जिसके बाद अनिल और उसकी प्रेमिका की शादी का रास्ता साफ हो गया, लेकिन अनिल ने पहली पत्नी को भी नहीं छोड़ा। उसने दोनों के साथ एक ही मंडप में शादी कर ली। पत्नी को हो गई जानकारी अनिल चोरी-छिपे सीमा से मिलता था, लेकिन उसकी पत्नी को इसकी जानकारी हो गई। पत्नी ने अनिल से बात की और ये तय कर लिया कि पति की उसकी प्रेमिका से शादी करवाएगी। इसके बाद तीनों परिवारों के बीच बातचीत हुई और यह तय कर लिया गया अनिल और सीमा के शादी करा दी जाए, लेकिन फेरे उसकी पत्नी भी साथ लेगी। पत्नी-प्रेमिका ने एक साथ लिए फेरे फिर क्या था, तीनों के परिवार राजी हुए और रीति-रिवाज के साथ एक ही मंडप में अनिल की उसकी प्रेमिका और पत्नी दोनों से एक साथ शादी करवाई गई। मंडप में प्रेमिका और पत्नी दोनों दुल्हन बनकर बैठीं और साथ फेरों के साथ सात जन्मों का साथ निभाने का वादा किया।