क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज पर कसी नकेल, प्रमोटर कंपनियों के बैंक खाते सीज

क्रिप्टोकरेंसी, क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज
क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज पर कसी नकेल, प्रमोटर कंपनियों के बैंक खाते सीज

नई दिल्ली। क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर मोटा लाभ कमा रहे लोगों के लिए बुरी खबर आई है। देश की कई बैंकों ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज चलाने वाले प्रमोटर्स के खातों को सीज कर दिया है। जानकारी यह भी मिल रही है कि आयकर विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी ​निवेशकों को भी नोटिस भेजने की तैयारी कर ली है। सरकारी एजेंसियों को क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में बड़े स्तर पर कालेधन को सफेद करने जैसे संदिग्ध वित्तीय लेनदेन होने के संभावना नजर आ रही है।

दुनिया भर में क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज का कारोबार तेजी से बढ़ा है। जिसे आर्थिक मामलों के जानकार वैश्विक अर्थव्यवस्था के लिए बुरे प्रभाव वाला मान रहे हैं। क्रिप्टोकरेंसी को किसी भी देश ने मान्यता नहीं दी है। यह एक काल्पनि​क मुद्रा है, जिसके अधिकांश निवेश युवा, टेक सेवी, ज्वैलर, रियल इस्टेट कारोबारी और युवा उद्यमी हैं।

{ यह भी पढ़ें:- विश्व विजेता फुटबाल टीम को फ्रांस सरकार देगी ल़ीजन दी आॅनर }

अगर भारत की बात करें तो यहां नौ क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज सक्रिय हैं। जिनके बड़े खाते एसबीआई, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक और यश बैंक में हैं जिन्हें संदिग्ध लेनदेनों की दृष्टि से बंद कर दिया गया है। ये एक्सजेंच विदेशी कंपनियों के नाम पर भारतीय प्रामोटर्स की मदद से संचालित किए जा रहे हैं।

एक सर्वे के मुताबिक भारत में पिछले 17 महीनों के भीतर करीब 3.5 बिलियन डॉलर का कारोबार हो चुका है। प्रति माह करीब 2 लाख लोग क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में निवेश करते हैं। पुणे, मुंबई, दिल्ली और बेंग्लुरू के नौ क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज्स का डाटा आयकर विभाग ने इकट्ठा किया है। आयकर विभाग के अधिकारी बैंकों के साथ मिलकर क्रिप्टोकरेंसी करेंसी कारोबार के मॉडल को समझने की कोशिश में जुटे हैं।

{ यह भी पढ़ें:- पांडाल हादसे के घायलों से मिलने अस्पताल पहुंचे पीएम मोदी }

नई दिल्ली। क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कर मोटा लाभ कमा रहे लोगों के लिए बुरी खबर आई है। देश की कई बैंकों ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज चलाने वाले प्रमोटर्स के खातों को सीज कर दिया है। जानकारी यह भी मिल रही है कि आयकर विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी ​निवेशकों को भी नोटिस भेजने की तैयारी कर ली है। सरकारी एजेंसियों को क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज में बड़े स्तर पर कालेधन को सफेद करने जैसे संदिग्ध वित्तीय लेनदेन होने के संभावना नजर आ रही है। दुनिया…
Loading...