IPL 2018 Live: CSK ने तीसरी बार दर्ज की शानदार जीत, वॉटशन ने लगाया नाबाद शतक

chennai super king ipl 2018
चेन्नई सुपर किंग

मुंबई। दो साल के वनवास के बाद शेन वॉटशन के शानदार 117 (नाबाद) रनों की बदौलत चेन्नई सुपरकिंग्स ने आज सनराइसजर्स को आठ विकेट से हराकर आईपीएल 2018 का ताज हासिल किया। इससे पहले 2010 और 2011 में धोनी ने चेन्नई को चैंपियन बनाया था। फ़ाइनल के हीरो रहे शेन वॉटशन ने 117 रनों पर नाबाद पारी खेली।

Csk Won Ipl 11 :

क्या कहते हैं आंकड़े-

मौजूदा सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम सनराइजर्स हैदराबाद पर लगातार हावी रही है। फाइनल से पहले तक दोनों में तीन बार मुकाबला हो चुका हैं और हर बार चेन्नई ने बाजी मारी।

1. 22 अप्रैल को हैदराबाद में सनराइजर्स को चेन्नई ने 4 रनों से हराया

2. 13 मई को पुणे में सनराइजर्स को चेन्नई ने 8 विकेट से हराया

3. 22 मई को मुंबई में सनराइजर्स को चेन्नई ने क्वालिफायर-1 में 2 विकेट से हराया

गेंदबाजों ने दिखाया दम

हैदराबाद की सफलता उसकी गेंदबाजी पर निर्भर है, हालांकि उसकी बल्लेबाजों ने भी अच्छा काम किया है। बल्लेबाजी में हैदराबाद का दारोमदार कप्तान केन विलियमसन पर टिका है। उनके अलावा शुरुआती मैचों में आउट ऑफ फॉर्म चल रहे शिखर धवन का बल्ला भी रंग में आ गया है। वहीं चोट से वापसी करने वाले रिद्धिमान साहा के आने से टीम को मजबूती मिली है।

टॉप पर रही है लीग मैचों में हैदराबाद

हैदरबाद की टीम ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है, वहीं चेन्नई की टीम ने भी दो साल के बाद शानदार वापसी करते हुए रिकॉर्ड सातवीं बार फाइनल में प्रवेश किया है। चेन्नई की टीम इकलौती ऐसी टीम है जिसने जब भी वह खेली है तब से हर बार प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही है। चेन्नई की टीम का भी इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा है। उसने कई नजदीकी मुकाबले जीते हैं।

मुंबई। दो साल के वनवास के बाद शेन वॉटशन के शानदार 117 (नाबाद) रनों की बदौलत चेन्नई सुपरकिंग्स ने आज सनराइसजर्स को आठ विकेट से हराकर आईपीएल 2018 का ताज हासिल किया। इससे पहले 2010 और 2011 में धोनी ने चेन्नई को चैंपियन बनाया था। फ़ाइनल के हीरो रहे शेन वॉटशन ने 117 रनों पर नाबाद पारी खेली।

क्या कहते हैं आंकड़े-

मौजूदा सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम सनराइजर्स हैदराबाद पर लगातार हावी रही है। फाइनल से पहले तक दोनों में तीन बार मुकाबला हो चुका हैं और हर बार चेन्नई ने बाजी मारी।1. 22 अप्रैल को हैदराबाद में सनराइजर्स को चेन्नई ने 4 रनों से हराया2. 13 मई को पुणे में सनराइजर्स को चेन्नई ने 8 विकेट से हराया3. 22 मई को मुंबई में सनराइजर्स को चेन्नई ने क्वालिफायर-1 में 2 विकेट से हराया

गेंदबाजों ने दिखाया दम

हैदराबाद की सफलता उसकी गेंदबाजी पर निर्भर है, हालांकि उसकी बल्लेबाजों ने भी अच्छा काम किया है। बल्लेबाजी में हैदराबाद का दारोमदार कप्तान केन विलियमसन पर टिका है। उनके अलावा शुरुआती मैचों में आउट ऑफ फॉर्म चल रहे शिखर धवन का बल्ला भी रंग में आ गया है। वहीं चोट से वापसी करने वाले रिद्धिमान साहा के आने से टीम को मजबूती मिली है।

टॉप पर रही है लीग मैचों में हैदराबाद

हैदरबाद की टीम ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया है, वहीं चेन्नई की टीम ने भी दो साल के बाद शानदार वापसी करते हुए रिकॉर्ड सातवीं बार फाइनल में प्रवेश किया है। चेन्नई की टीम इकलौती ऐसी टीम है जिसने जब भी वह खेली है तब से हर बार प्लेऑफ में जगह बनाने में कामयाब रही है। चेन्नई की टीम का भी इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा है। उसने कई नजदीकी मुकाबले जीते हैं।