CWG2018 : मनु भाकर ने स्वर्ण पर लगाया निशाना, हीना का रजत पदक पर कब्जा 

manu bhakar
मनु भाकर

गोल्ड कोस्ट। हरियाणा की 16 साल की निशानेबाज मनु भाकर ने करियर के पहले राष्ट्रमंडल खेलों में ही सोना जीतकर अपनी क्षमता साबित कर दी है। गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में रविवार को चौथे दिन मनु ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम किया और साथ ही रिकॉर्ड भी कायम किया।

इसी स्पर्धा में दिग्गज निशानेबाज हीना सिद्धू ने रजत पदक पर कब्जा जमाया। हरियाणा के झज्जर जिले की रहने वाली 16 वर्षीया मनु ने इस स्पर्धा के फाइनल में कुल 240.9 अंक हासिल किए और स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। वहीं हीना ने 234 अंक हासिल कर रजत पदक जीता।

{ यह भी पढ़ें:- CWG2018 : पहलवान बजरंग पुनिया ने भारत को दिलाया 17वां स्वर्ण पदक }

मनु ने इसी साल मेक्सिको के ग्वाडलहारा में आयोजित हुई आईएसएसएफ विश्व कप की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में भी स्वर्ण पदक जीता था। वह इस टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारत की सबसे युवा निशानेबाज बनीं। भारत की यह किशोर निशानेबाज केवल निशानेबाजी में नहीं, बल्कि अन्य खेलों में भी माहिर हैं। वह मुक्केबाजी, टेनिस और स्केटिंग में भी राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीत चुकी हैं।

भारत की अनुभवी महिला निशानेबाज की बात की जाए, तो सिद्धू ने 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में इसी स्पर्धा में रजत पदक अपने नाम किया था। साल 2014 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित महिला निशानेबाज ने पिछले साल राष्ट्रमंडल निशानेबाजी चैम्पियनशिप में महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था।

{ यह भी पढ़ें:- CWG2018 : श्रेयसी ने भारत की झोली में डाला 12वां स्वर्ण पदक }

गोल्ड कोस्ट। हरियाणा की 16 साल की निशानेबाज मनु भाकर ने करियर के पहले राष्ट्रमंडल खेलों में ही सोना जीतकर अपनी क्षमता साबित कर दी है। गोल्ड कोस्ट में जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में रविवार को चौथे दिन मनु ने महिलाओं की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा का स्वर्ण अपने नाम किया और साथ ही रिकॉर्ड भी कायम किया। इसी स्पर्धा में दिग्गज निशानेबाज हीना सिद्धू ने रजत पदक पर कब्जा जमाया। हरियाणा के झज्जर जिले की रहने वाली 16…
Loading...