CWG2018 : भारतीय पुरुष मुक्केबाज सेमीफाइनल में, 5 कांस्य पक्के

CWG2018 : भारतीय पुरुष मुक्केबाज सेमीफाइनल में, 5 कांस्य पक्के
CWG2018 : भारतीय पुरुष मुक्केबाज सेमीफाइनल में, 5 कांस्य पक्के

गोल्ड कोस्ट। भारतीय पुरुष मुक्केबाजों ने यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के छठे दिन मंगलवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच कांस्य पदक पक्के कर लिए हैं। भारत को अलग-अलग वर्गो में मंगलवार को पांच मुकाबले खेलने थे और उसे पांचों में जीत मिली है। भारत के नमन, अमित, हुसामुद्दीन मोहम्मद, मनोज कुमार और सतीश कुमार ने अपने-अपने वर्ग के क्वार्टर फाइनल मैचों में जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया और अपने पदक पक्के किए।

Cwg2018 Indian Mens Boxing Semifinals 5 Bronze Win :

दिन के पहले मुकाबले में 46-49 किलोग्राम भारवर्ग में रिंग में उतरे। अमित ने क्वार्टर फाइनल-4 में स्कॉटलैंड के अकील अहमद को 4-1 से मात दी। इस मैच में अमित को अकील ने अच्छी टक्कर दी। पहले राउंड में अकील ने अमित के आक्रामक पंचों से बचने के लिए अच्छा डिफेंस किया। अंतिम मिनट में अकील ने भी अमित के खिलाफ अच्छे जैब और हुक पंच लगाए।

दूसरे राउंड में अकील भी आक्रामक नजर आए। यहां पर अमित ने अकील के पंचों से बचने के लिए अच्छा डिफेंस किया। यहां अमित अपने लेफ्ट हुक का अच्छा इस्तेमाल कर रहे थे। दोनों मुक्केबाजों के बीच तीसरा राउंड रोमांचक रहा। यहां एक समय पर अकील ने डिफेंस करना छोड़ दिया था और इसी का फायदा उठाकर अमित ने स्कॉटलैंड के मुक्केबाज पर कई पंच मारे और अंत में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।

सेमीफाइनल में अब शुक्रवार को अमित का सामना युगांडा के जुमा मीरो से होगा। मीरो ने क्वार्टर फाइनल-3 में केन्या के शाफी हसन को मात देकर अंतिम-4 में स्थान हासिल किया।  वहीं नमन ने भी 91 किलोग्राम वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। नमन ने क्वार्टर फाइनल-1 में सामोआ के फ्रैंक मासोए को एकतरफा मुकाबले में 5-0 से मात दी।

नमन ने तीनों राउंड में अपना दबदबा बनाए रखते हुए फ्रैंक को बाहर का रास्ता दिखाया और भारत के लिए कांस्य पदक पक्का कर लिया है। भारत के 19 वर्षीय मुक्केबाज नमन अब सेमीफाइनल में किस मुक्केबाज से भिड़ेंगे। सेमीफाइनल में अब नमन का सामना शुक्रवार को आस्ट्रेलिया के जेसन व्हाटले से होगा। जेसन ने क्वार्टर फाइनल-2 में नार्थन आयरलैंड के डेमिन सुलिवान को 4-1 से हराया था।

मोहम्मद ने क्वार्टर फाइनल में जाम्बिया के एवेरिस्टो मुलेंगिया को आसानी से 5-0 से मात दी। इस जीत के साथ ही मोहम्मद ने अपने लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है। भारतीय खिलाड़ी मोहम्मद अपने विपक्षी पर हावी रहे। मुलेंगिया ज्यादा आक्रामकता में दिखे और इसी का फायदा मोहम्मद ने उठाया। उन्होंने अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए विपक्षी खिलाड़ी के मुक्कों को जाया किया और फिर मौका पाते ही पलटवार किया। सेमीफाइनल में मोहम्मद इंग्लैंड के पीटर मैक्ग्रेल से भिड़ेंगे।

सतीश ने त्रिनिदाद एंड टोबैगो के नाइजल पॉल को क्वार्टर फाइनल में 4-1 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। इसी के साथ उन्होंने अपना कांस्य पदक पक्का कर लिया। भारतीय खिलाड़ी पहले राउंड में हालांकि पूरी तरह से बैकफुट पर रहे और अपने प्रतिद्वंद्वी की लंबाई ज्यादा होने के कारण उन्हें अपने मुक्के मारने में परेशानी हुई। नाइजल ने पहले राउंड में अच्छे पंच बरसाए जो सटीक रहे।

दूसरे राउंड में हालांकि सतीश ने वापसी की और रक्षात्मक खेल खेला और नाइजल की ऊर्जा के व्यर्थ जाने दिया। आलम यह रहा कि आखिरी राउंड में नाइजल काफी थक गए थे और इसका फायदा सतीश ने बखूबी उठाया। सेशल्स के केडी एज्नेस से भिड़ेंगे। मनोज ने क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के टैरी निकोलस को 4-1 से मात दी। इसी के साथ मनोज ने कांस्य पदक पक्का कर लिया।

पहले राउंड की शुरुआत दोनों मुक्केबाजों ने धीमी की और रक्षात्मक खेल खेला, लेकिन धीरे-धीरे मनोज ने अपने विपक्षी की कमजोरी को भांप आक्रामकता दिखाई और जैब का अच्छा इस्तेमाल करते हुए उन्हें रक्षात्मक खेल खेलने पर मजबूर कर दिया। दूसरे राउंड में टेरी शुरू से ही रक्षात्मक थे और लगातार पीछे जा रहे थे। मनोज ने उनकी इस रणनीति को पहचाना और टैरी पर हावी हो गए। टैरी हालांकि अपनी रणनीति में काफी हद तक सफल भी रहे। तीसरे राउंड में मनोज हावी थे, लेकिन टैरी ने कुछ अच्छे पंच लगाए। इस राउंड में भी वह राक्षात्मक खेल खेल रहे थे।

मनोज सेमीफाइनल में इंग्लैंड के पैट मैक्कोमैक से भिड़ेंगे।

गोल्ड कोस्ट। भारतीय पुरुष मुक्केबाजों ने यहां जारी 21वें राष्ट्रमंडल खेलों के छठे दिन मंगलवार को शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच कांस्य पदक पक्के कर लिए हैं। भारत को अलग-अलग वर्गो में मंगलवार को पांच मुकाबले खेलने थे और उसे पांचों में जीत मिली है। भारत के नमन, अमित, हुसामुद्दीन मोहम्मद, मनोज कुमार और सतीश कुमार ने अपने-अपने वर्ग के क्वार्टर फाइनल मैचों में जीत हासिल करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया और अपने पदक पक्के किए।दिन के पहले मुकाबले में 46-49 किलोग्राम भारवर्ग में रिंग में उतरे। अमित ने क्वार्टर फाइनल-4 में स्कॉटलैंड के अकील अहमद को 4-1 से मात दी। इस मैच में अमित को अकील ने अच्छी टक्कर दी। पहले राउंड में अकील ने अमित के आक्रामक पंचों से बचने के लिए अच्छा डिफेंस किया। अंतिम मिनट में अकील ने भी अमित के खिलाफ अच्छे जैब और हुक पंच लगाए।दूसरे राउंड में अकील भी आक्रामक नजर आए। यहां पर अमित ने अकील के पंचों से बचने के लिए अच्छा डिफेंस किया। यहां अमित अपने लेफ्ट हुक का अच्छा इस्तेमाल कर रहे थे। दोनों मुक्केबाजों के बीच तीसरा राउंड रोमांचक रहा। यहां एक समय पर अकील ने डिफेंस करना छोड़ दिया था और इसी का फायदा उठाकर अमित ने स्कॉटलैंड के मुक्केबाज पर कई पंच मारे और अंत में जीत हासिल कर सेमीफाइनल में प्रवेश किया।सेमीफाइनल में अब शुक्रवार को अमित का सामना युगांडा के जुमा मीरो से होगा। मीरो ने क्वार्टर फाइनल-3 में केन्या के शाफी हसन को मात देकर अंतिम-4 में स्थान हासिल किया।  वहीं नमन ने भी 91 किलोग्राम वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। नमन ने क्वार्टर फाइनल-1 में सामोआ के फ्रैंक मासोए को एकतरफा मुकाबले में 5-0 से मात दी।नमन ने तीनों राउंड में अपना दबदबा बनाए रखते हुए फ्रैंक को बाहर का रास्ता दिखाया और भारत के लिए कांस्य पदक पक्का कर लिया है। भारत के 19 वर्षीय मुक्केबाज नमन अब सेमीफाइनल में किस मुक्केबाज से भिड़ेंगे। सेमीफाइनल में अब नमन का सामना शुक्रवार को आस्ट्रेलिया के जेसन व्हाटले से होगा। जेसन ने क्वार्टर फाइनल-2 में नार्थन आयरलैंड के डेमिन सुलिवान को 4-1 से हराया था।मोहम्मद ने क्वार्टर फाइनल में जाम्बिया के एवेरिस्टो मुलेंगिया को आसानी से 5-0 से मात दी। इस जीत के साथ ही मोहम्मद ने अपने लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है। भारतीय खिलाड़ी मोहम्मद अपने विपक्षी पर हावी रहे। मुलेंगिया ज्यादा आक्रामकता में दिखे और इसी का फायदा मोहम्मद ने उठाया। उन्होंने अपने फुटवर्क का अच्छा इस्तेमाल करते हुए विपक्षी खिलाड़ी के मुक्कों को जाया किया और फिर मौका पाते ही पलटवार किया। सेमीफाइनल में मोहम्मद इंग्लैंड के पीटर मैक्ग्रेल से भिड़ेंगे।सतीश ने त्रिनिदाद एंड टोबैगो के नाइजल पॉल को क्वार्टर फाइनल में 4-1 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। इसी के साथ उन्होंने अपना कांस्य पदक पक्का कर लिया। भारतीय खिलाड़ी पहले राउंड में हालांकि पूरी तरह से बैकफुट पर रहे और अपने प्रतिद्वंद्वी की लंबाई ज्यादा होने के कारण उन्हें अपने मुक्के मारने में परेशानी हुई। नाइजल ने पहले राउंड में अच्छे पंच बरसाए जो सटीक रहे।दूसरे राउंड में हालांकि सतीश ने वापसी की और रक्षात्मक खेल खेला और नाइजल की ऊर्जा के व्यर्थ जाने दिया। आलम यह रहा कि आखिरी राउंड में नाइजल काफी थक गए थे और इसका फायदा सतीश ने बखूबी उठाया। सेशल्स के केडी एज्नेस से भिड़ेंगे। मनोज ने क्वार्टर फाइनल में आस्ट्रेलिया के टैरी निकोलस को 4-1 से मात दी। इसी के साथ मनोज ने कांस्य पदक पक्का कर लिया।पहले राउंड की शुरुआत दोनों मुक्केबाजों ने धीमी की और रक्षात्मक खेल खेला, लेकिन धीरे-धीरे मनोज ने अपने विपक्षी की कमजोरी को भांप आक्रामकता दिखाई और जैब का अच्छा इस्तेमाल करते हुए उन्हें रक्षात्मक खेल खेलने पर मजबूर कर दिया। दूसरे राउंड में टेरी शुरू से ही रक्षात्मक थे और लगातार पीछे जा रहे थे। मनोज ने उनकी इस रणनीति को पहचाना और टैरी पर हावी हो गए। टैरी हालांकि अपनी रणनीति में काफी हद तक सफल भी रहे। तीसरे राउंड में मनोज हावी थे, लेकिन टैरी ने कुछ अच्छे पंच लगाए। इस राउंड में भी वह राक्षात्मक खेल खेल रहे थे।मनोज सेमीफाइनल में इंग्लैंड के पैट मैक्कोमैक से भिड़ेंगे।