तूफान से नुकसान का जायजा लेने केन्द्र से भेजी जायेगी एक टीम, मरने वालों की संख्या 41 हुई

a

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की एक टीम ओडिशा में चक्रवात फोनी की वजह से पहुंची क्षति का आकलन करने जल्द ही ओडिशा जाएगी। ओडिशा में राहत के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करते हुए मंत्रिमंडल सचिव पी के सिन्हा ने बुधवार को राज्य और केंद्र के संबंधित अधिकारियों को पुरी और भुवनेश्वर में बिजली एवं दूरसंचार बहाल करने के लिए तैयार की गई प्राथमिकताओं को लागू करने पर ध्यान देने को कहा है और प्रतिदिन हुई प्रगति पर नजर रखने को कहा है।

Cyclone Fani A Team Of Center Will Go To Odisha To Assess The Damage :

गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि ओडिशा के आग्रह पर उन्होंने केंद्र की एक टीम को जल्द ओडिशा जाकर फोनी से पहुंची क्षति का आकलन करने का आदेश दिया है। मंत्रिमंडल सचिव के नेतृत्व में राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति एनसीएमसी ने फोनी से ओडिशा के प्रभावित इलाकों में बचाव एवं राहत की समीक्षा राज्य और केंद्र के संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की।

वहीं भीषण चक्रवात फोनी की वजह से मरनेवालों की संख्या बढ़कर बुधवार को 41 हो गई। वहीं दूसरे राज्यों के प्रशिक्षित कामगारों की मदद के साथ प्रभावित इलाकों में बिजली बहाल करने का काम जोरशोर से जारी है। मंगलवार तक मरने वालों की संख्या 37 थी लेकिन जिला अधिकारियों ने चक्रवात की वजह से चार और लोगों के मरने की पुष्टि की है।

इस तूफान ने शुक्रवार को पुरी में दस्तक दी थी। सूचना एवं जन संपर्क सचिव संजय सिंह ने हालांकि यह नहीं बताया है कि हालिया मौत के मामले किस जिले से सामने आए हैं।

अधिकारी ने बताया कि चक्रवात के बाद जल की आपूर्ति को बहाल करना राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकता थी और भुवनेश्वर और पुरी के ज्यादातर हिस्सों में इसे बहाल कर दिया गया है। सिंह ने बताया कि 12 मई तक भुवनेश्वर में बिजली की आपूर्ति पूर्ण रूप से बहाल कर दी जाएगी।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की एक टीम ओडिशा में चक्रवात फोनी की वजह से पहुंची क्षति का आकलन करने जल्द ही ओडिशा जाएगी। ओडिशा में राहत के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा करते हुए मंत्रिमंडल सचिव पी के सिन्हा ने बुधवार को राज्य और केंद्र के संबंधित अधिकारियों को पुरी और भुवनेश्वर में बिजली एवं दूरसंचार बहाल करने के लिए तैयार की गई प्राथमिकताओं को लागू करने पर ध्यान देने को कहा है और प्रतिदिन हुई प्रगति पर नजर रखने को कहा है। गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि ओडिशा के आग्रह पर उन्होंने केंद्र की एक टीम को जल्द ओडिशा जाकर फोनी से पहुंची क्षति का आकलन करने का आदेश दिया है। मंत्रिमंडल सचिव के नेतृत्व में राष्ट्रीय संकट प्रबंधन समिति एनसीएमसी ने फोनी से ओडिशा के प्रभावित इलाकों में बचाव एवं राहत की समीक्षा राज्य और केंद्र के संबंधित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की। वहीं भीषण चक्रवात फोनी की वजह से मरनेवालों की संख्या बढ़कर बुधवार को 41 हो गई। वहीं दूसरे राज्यों के प्रशिक्षित कामगारों की मदद के साथ प्रभावित इलाकों में बिजली बहाल करने का काम जोरशोर से जारी है। मंगलवार तक मरने वालों की संख्या 37 थी लेकिन जिला अधिकारियों ने चक्रवात की वजह से चार और लोगों के मरने की पुष्टि की है। इस तूफान ने शुक्रवार को पुरी में दस्तक दी थी। सूचना एवं जन संपर्क सचिव संजय सिंह ने हालांकि यह नहीं बताया है कि हालिया मौत के मामले किस जिले से सामने आए हैं। अधिकारी ने बताया कि चक्रवात के बाद जल की आपूर्ति को बहाल करना राज्य सरकार की शीर्ष प्राथमिकता थी और भुवनेश्वर और पुरी के ज्यादातर हिस्सों में इसे बहाल कर दिया गया है। सिंह ने बताया कि 12 मई तक भुवनेश्वर में बिजली की आपूर्ति पूर्ण रूप से बहाल कर दी जाएगी।