1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Cyclone Gulab : चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ को लेकर ओडिशा और आंध्रप्रदेश में हाई अलर्ट, इन राज्यों पर दिखेगा असर

Cyclone Gulab : चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ को लेकर ओडिशा और आंध्रप्रदेश में हाई अलर्ट, इन राज्यों पर दिखेगा असर

मौसम विभाग (Weather Department) ने रविवार को चक्रवाती तूफान 'गुलाब' के लैंड फॉल को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग (Weather Department) ने बताया कि चक्रवाती तूफान 'गुलाब' (Cyclone Gulab) के आज देर रात तक ओडिशा (Odisha) के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)  के विशाखापत्तनम तटों के बीच टकराने की आशंका है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। मौसम विभाग (Weather Department) ने रविवार को चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ के लैंड फॉल को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग (Weather Department) ने बताया कि चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ (Cyclone Gulab) के आज देर रात तक ओडिशा (Odisha) के गोपालपुर और आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)  के विशाखापत्तनम तटों के बीच टकराने की आशंका है। चक्रवाती तूफान ‘गुलाब’ वर्तमान में गोपालपुर से 180 किमी दक्षिण पूर्व में स्थित है। सबसे अधिक संभावना है कि यह आंध्र प्रदेश (Andhra Pradesh)  के कलिंगपट्टनम और ओडिशा (Odisha) के गोपालपुर के बीच देर शाम से आधी रात तक लैंडफॉल बनाएगा।

पढ़ें :- IMD Rain Alert : 21 अक्‍टूबर तक देश में जारी रहेगा बारिश का सिलसिला

मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने की हाई लेवल बैठक

चक्रवात ‘गुलाब’ के खतरे को देखते हुए ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक (Odisha Chief Minister Naveen Patnaik) ने रविवार को अधिकारियों के साथ बैठक की है। बैठक के बाद उन्होंने कहा कि मैंने ओडिशा भवन में  चक्रवात ‘गुलाब’ पर एक बैठक की और आवश्यक सावधानियों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि 10 जिलों में इस तूफान का प्रभाव सबसे अधिक रहने की संभावना है।

पाक ने रखा इस तूफान का नाम 

पाकिस्तान ने इस तूफान का नाम ‘गुलाब’ रखा है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य से यह तूफान उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। यह देर शाम तक आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटीय इलाकों से जाकर टकराएगा।

पढ़ें :- उत्तराखंड़: केदारनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री यात्रा पर लगी रोक, भारी बारिश के अलर्ट के बाद प्रशासन ने लिया फैसला

लगभग 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने बताया कि चक्रवर्ती तूफान के तहत आंध्रप्रदेश (Andhra Pradesh) और ओडिशा (Odisha) के लिए चेतावनी जारी की गई है। आईएमडी के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय मोहपात्र ने बताया कि चक्रवाती तूफान के प्रभाव से लगभग 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार तक हवा चलने का अनुमान है।

एनडीआरएफ की 18 टीम तैनात

केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव  गौबा (Union Cabinet Secretary Rajiv Gauba) ने बताया कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (NDRF) की 18 टीमों को दोनों राज्यों के तटीय क्षेत्रों में तैनात किया गया है।  उन्होंने यह भी बताया कि आपात स्थिति में अतिरिक्त टीमों को तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। केंद्रीय कैबिनेट सचिव (Union Cabinet Secretary ) ने कहा कि जहाजों और विमानों के साथ सेना और नौसेना के बचाव और राहत दल भी तैनात किए गए हैं।

ओडिशा के 7 जिले हाई अलर्ट पर

पढ़ें :- केरल बारिश से मची तबाही अब तक 18 लोगों की मौत, अमित शाह बोले- केंद्र सरकार हर संभव करेगी मदद

ओडिशा सरकार के वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, सात जिलों- गजपति, गंजम, रायगढ़ा, कोरापुट, मल्काजगिरि, नबरंगपुर और कंधमाल- को हाई अलर्ट पर रखा गया है क्योंकि भारत के मौसम विभाग (IMD) ने बंगाल की खाड़ी (Bay of Bengal) के ऊपर चक्रवाती तूफान बनने का पूर्वानुमान लगाया है। आईएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक तूफान दक्षिणी ओडिशा और पड़ोसी आंध्र प्रदेश के तट की ओर बढ़ सकता है।

मछुआरों को 25 से 27 सितंबर समुद्र में नहीं जाने की चेतावनी

अगले तीन दिनों के दौरान समुद्र में ऊंची लहरें उठेंगी और ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में मछुआरों को 25 से 27 सितंबर तक बंगाल की खाड़ी के पूर्वी-मध्य और उत्तरपूर्वी क्षेत्र में समुद्र में जाने से मना किया गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...