1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. बंगाल की खाड़ी में Cyclone Jawad पकड़ रहा रफ्तार, 24 घंटे में आंध्र-ओडिशा के तट से टकराएगा

बंगाल की खाड़ी में Cyclone Jawad पकड़ रहा रफ्तार, 24 घंटे में आंध्र-ओडिशा के तट से टकराएगा

बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) अंडमान सागर को पार कर शुक्रवार की देर शाम या शनिवार की सुबह तक तट से टकरा सकता है। मॉनसून के लौटने के बाद यह पहली बार चक्रवाती तूफान आ रहा है, इसका केंद्र थाईलैंड में है।भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) ने कहा कि इस चक्रवात के 3 दिसंबर तक बंगाल की खाड़ी में पहुंचने और केंद्र बनने की उम्मीद की जा रही है। इस साइक्लोन की वजह से ओडिशा, बंगाल, आंध्र में बारिश की आशंका जताई गई है। हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। मछुआरों को आज से लेकर अगले 2-3 दिनों तक बंगाल की खाड़ी में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad) अंडमान सागर को पार कर शुक्रवार की देर शाम या शनिवार की सुबह तक तट से टकरा सकता है। मॉनसून के लौटने के बाद यह पहली बार चक्रवाती तूफान आ रहा है, इसका केंद्र थाईलैंड में है।

पढ़ें :- Weather forecast : यूपी समेत इन राज्यों में यूं ही जारी रहेगी ठिठुरन, दिल्ली से ज्यादा ठंडा रहा लखनऊ

भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) ने कहा कि इस चक्रवात के 3 दिसंबर तक बंगाल की खाड़ी में पहुंचने और केंद्र बनने की उम्मीद की जा रही है। इस साइक्लोन की वजह से ओडिशा, बंगाल, आंध्र में बारिश की आशंका जताई गई है। हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। मछुआरों को आज से लेकर अगले 2-3 दिनों तक बंगाल की खाड़ी में नहीं जाने की सलाह दी गई है।

बंगाल की खाड़ी में आने वाले संभावित तूफान जवाद को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने एक उच्च स्तरीय बैठक की है। मीटिंग में पीएम मोदी (PM Modi)  ने राज्यों, केंद्रीय मंत्रालयों और संबंधित एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा की है।

4 दिसंबर को तूफान आने की आशंका भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में कम दबाव की वजह से क्षेत्र तेज चक्रवाती तूफान जवाद (Cyclone Jawad)   के आने की आशंका है। शनिवार चार दिसंबर को जवाद तूफान (Cyclone Jawad)  के उत्तरी आंध्र प्रदेश के तट तक पहुंचने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक जवाद तूफान (Cyclone Jawad)   के तट से टकराने के बाद शनिवार की सुबह हवा की गति 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है। इससे आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की आशंका जताई गई है।

जवाद तूफान (Cyclone Jawad)  और उसके बाद की स्थिति से निपटने के लिए कैबिनेट सचिव ने सभी तटीय राज्यों के मुख्य सचिवों और संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों/एजेंसियों के साथ स्थिति और तैयारियों की समीक्षा की है।

पढ़ें :- Weather Alert: यूपी-बिहार समेत इन राज्यों में 24 घंटे तक झमाझम बारिश की आशंका, सर्दी का असर रहेगा जारी

NDRF की 29 टीमें तैनात

गृह मंत्रालय 24 घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है। लगातार राज्य सरकारों/केंद्र शासित प्रदेशों और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है। गृह मंत्रालय ने सभी तटीय राज्यों में एनडीआरएफ (NDRF) की कुल 29 टीमों को पहले से तैनात कर दिया है। ये टीमें राज्यों में नावों, पेड़ काटने वालों औजार, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस हैं। जबकि 33 एनडीआरएफ टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गया है।

मौसम विभाग (Weather Department) ने देश भर में चक्रवात जवाद को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। यह चक्रवाती तूफान 4 दिसंबर को आंध्र प्रदेश और ओडिशा के तटों पर पहुंच सकता है। दक्षिण-पश्चिम मानसून (South West Monsoon) समाप्त होने के बाद जवाद पहला चक्रवाती तूफान है। बता दे कि चक्रवाती तूफान जवाद नाम सऊदी अरब ने दिया है, जिसका मतलब उदार या फिर दयालु होता है। इस कारण ये तूफान ज्यादा खतरनाक नहीं होने वाला है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...