दलित बच्चियों के साथ दूसरे समुदाय के युवकों ने की छेड़खानी, CM योगी ने दिया NSA लगाने का आदेश

CM Yogi
दलित बच्चियों के साथ दूसरे समुदाय के युवकों ने की छेड़खानी, CM योगी ने दिया NSA लगाने का आदेश

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ आजकल अपराधिक घटनाओं पर बिल्कुल सख्त हैं. हाल ही में जौनपुर में दलितों के साथ हुई घटना पर सीएम ने कड़ा रूख अपनाया था वहीं अब दलित बच्चियों के साथ हुई घटना पर भी सीएम ने काफी नाराजगी जाहिर की है। आजमगढ़ में दलित बच्ची के साथ छेड़खानी की घटना पर शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है. सीएम योगी ने परवेज, फैजान, नूरआलम, सदरे आलम समेत 12 गिरफ्तार आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगाने का आदेश दिया है. मामले में थानाध्यक्ष महराजगंज सस्पेंड कर दिए गए हैं. इस घटना में फरार चल रहे सात आरोपियों पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है.

Dalit Girls Molested By Youths Of Other Communities Cm Yogi Orders Imposition Of Nsa :

बता दें कि ट्यूबेल पर पानी लेने जा रही दलित बालिकाओं से गांव के कुछ दबंग लोग छेड़खानी करते थे. जब बालिकाओं ने विरोध किया तो दबंगों ने दलितों को बुरी तरह मारा-पीटा. सीएम योगी ने प्रदेश के सभी पुलिस कप्तानों को निर्देश देते हुए कहा कि अगर, कहीं भी सांप्रदायिक या जातीय घटना हुई तो होगी इंस्पेक्टर और सीओ के खिलाफ कार्रवाई होगी. वहीं जिले के एसपी पर जवाबदेही तय होगी.

इससे पहले जौनपुर में दलितों के घर फूंके जाने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य आरोपी नूर आलम और जावेद सिद्दीकी समेत सभी आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगाने का आदेश दिया था. साथ ही थाना प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और पीड़ित दलितों को तत्काल आवास देने का निर्देश जारी किया गया है. मामले में थानाध्यक्ष (SHO) संजीव मिश्रा लाइन हाजिर कर दिए गए हैं. बता दें महीने भर पहले ही संजीव मिश्रा की तैनाती हुई थी. सीएम के निर्देश पर जौनपुर पुलिस ने विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी है.

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ आजकल अपराधिक घटनाओं पर बिल्कुल सख्त हैं. हाल ही में जौनपुर में दलितों के साथ हुई घटना पर सीएम ने कड़ा रूख अपनाया था वहीं अब दलित बच्चियों के साथ हुई घटना पर भी सीएम ने काफी नाराजगी जाहिर की है। आजमगढ़ में दलित बच्ची के साथ छेड़खानी की घटना पर शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है. सीएम योगी ने परवेज, फैजान, नूरआलम, सदरे आलम समेत 12 गिरफ्तार आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगाने का आदेश दिया है. मामले में थानाध्यक्ष महराजगंज सस्पेंड कर दिए गए हैं. इस घटना में फरार चल रहे सात आरोपियों पर 25-25 हजार का ईनाम घोषित किया गया है. बता दें कि ट्यूबेल पर पानी लेने जा रही दलित बालिकाओं से गांव के कुछ दबंग लोग छेड़खानी करते थे. जब बालिकाओं ने विरोध किया तो दबंगों ने दलितों को बुरी तरह मारा-पीटा. सीएम योगी ने प्रदेश के सभी पुलिस कप्तानों को निर्देश देते हुए कहा कि अगर, कहीं भी सांप्रदायिक या जातीय घटना हुई तो होगी इंस्पेक्टर और सीओ के खिलाफ कार्रवाई होगी. वहीं जिले के एसपी पर जवाबदेही तय होगी. इससे पहले जौनपुर में दलितों के घर फूंके जाने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुख्य आरोपी नूर आलम और जावेद सिद्दीकी समेत सभी आरोपियों पर तत्काल एनएसए लगाने का आदेश दिया था. साथ ही थाना प्रभारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई और पीड़ित दलितों को तत्काल आवास देने का निर्देश जारी किया गया है. मामले में थानाध्यक्ष (SHO) संजीव मिश्रा लाइन हाजिर कर दिए गए हैं. बता दें महीने भर पहले ही संजीव मिश्रा की तैनाती हुई थी. सीएम के निर्देश पर जौनपुर पुलिस ने विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी है.