महाराष्ट्र: पुणे में ऊंची जाति की लड़की का पीछा करने पर दलित युवक की हत्या, छह गिरफ्तार

arrest

पुणे: महाराष्ट्र में ऊंची जाति की एक लड़की से एकतरफा प्यार करने और कथित तौर पर उसका पीछा करने की वजह से दलित युवक की हत्या कर दी गई। पुलिस ने 20 साल के युवक की हत्या के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। जगताप नगर के मृतक युवक के चाचा की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस इंस्पेक्टर मोहन शिंदे ने कहा कि छह में चार लोगों हेमंत कैलास काते, सागर जगदीश काते और दो नाबालिग आरोपियों को क्राइम ब्रान्च ने गिरफ्तार कर लिया था। दो अन्य आरोपियों कैलास मुरलीधर काते और जगदीश मुरलीधर काते को भी पुलिस ने दबोच लिया है।

Dalit Youth Murdered For Chasing A High Caste Girl In Pune Six Arrested :

महाराष्ट्र में जगताप दलित होते हैं और काते ऊंची जाति से आते हैं। एफआईआर के मुताबिक, आरोपियों ने पहले मृतक युवक विराज को पहले जातिसूचक गालियां दीं और फिर उसे मार डाला। शिकायत के मुताबिक, विराज मौके पर खून से लथपथ पाया गया था। उसके सिर और शरीर पर चोट के निशान थे। जीतेश जगताप ने पुलिस को बताया कि विराज ने मरने से पहले हमलावरों के बारे में बता दिया था।

एफआईआर के मुताबि, काते परिवार के छह लोगों ने पहले मिनी टेंपो से विराज के दोपहिया वाहन में टक्कर मारी और फिर उस पर रॉड और पत्थरों से हमला कर दिया। विराज ने चाचा को बताय कि उसने भागने की कोशिश की लेकिन गिर पड़ा। आरोपी उसे जमकर पीटते रहे। बेटी को प्रपोज करने की उसने हिम्मत कैसे की यह कहते हुए जगदीश काते ने उसे जातिसूचक गालियां दीं।

विराज को सोमवार को आदित्य बिड़ला हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। आरोपियों का कहना है कि मृतक काते परिवार की एक बेटी का पीछा कर रहा था। उसे पहले भी चेतावनी दी गई थी और इस वजह से दोनों परिवारों में दुश्मनी चल रही थी।

असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर अमरीश देशमुख ने आरोपियों के पक्ष के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि उनका दावा है कि उन्होंने उसे पीछा करने से रोका था। रविवार रात सागर काते का टैंकर उसके घर के पास पंक्चर हो गया। सागर ने कहा कि विराज वहां शराब पीकर आया और उसे गालियां देने लगा। इस दौरान उनमें झगड़ा होने लगा। तभी परिवार के दो और लोग वहां आ गए और विराज के दोपहिया वाहन में टक्कर मारी और झगड़े में शामिल हो गए।

पुलिस ने बताया कि हत्या, आपराधिक साजिश का केस सांगवी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है। एससी/एसटी एक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं। पुलिस इंस्पेक्टर अजय भोसले ने कहा कि कॉल रिकॉर्ड्स की जांच की जा रही है। लड़की से भी पूछताछ की जाएगी। आरोपी क्या कहते हैं उसके अभी मायने नहीं हैं।

पुणे: महाराष्ट्र में ऊंची जाति की एक लड़की से एकतरफा प्यार करने और कथित तौर पर उसका पीछा करने की वजह से दलित युवक की हत्या कर दी गई। पुलिस ने 20 साल के युवक की हत्या के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया है। जगताप नगर के मृतक युवक के चाचा की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है। पुलिस इंस्पेक्टर मोहन शिंदे ने कहा कि छह में चार लोगों हेमंत कैलास काते, सागर जगदीश काते और दो नाबालिग आरोपियों को क्राइम ब्रान्च ने गिरफ्तार कर लिया था। दो अन्य आरोपियों कैलास मुरलीधर काते और जगदीश मुरलीधर काते को भी पुलिस ने दबोच लिया है। महाराष्ट्र में जगताप दलित होते हैं और काते ऊंची जाति से आते हैं। एफआईआर के मुताबिक, आरोपियों ने पहले मृतक युवक विराज को पहले जातिसूचक गालियां दीं और फिर उसे मार डाला। शिकायत के मुताबिक, विराज मौके पर खून से लथपथ पाया गया था। उसके सिर और शरीर पर चोट के निशान थे। जीतेश जगताप ने पुलिस को बताया कि विराज ने मरने से पहले हमलावरों के बारे में बता दिया था। एफआईआर के मुताबि, काते परिवार के छह लोगों ने पहले मिनी टेंपो से विराज के दोपहिया वाहन में टक्कर मारी और फिर उस पर रॉड और पत्थरों से हमला कर दिया। विराज ने चाचा को बताय कि उसने भागने की कोशिश की लेकिन गिर पड़ा। आरोपी उसे जमकर पीटते रहे। बेटी को प्रपोज करने की उसने हिम्मत कैसे की यह कहते हुए जगदीश काते ने उसे जातिसूचक गालियां दीं। विराज को सोमवार को आदित्य बिड़ला हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। आरोपियों का कहना है कि मृतक काते परिवार की एक बेटी का पीछा कर रहा था। उसे पहले भी चेतावनी दी गई थी और इस वजह से दोनों परिवारों में दुश्मनी चल रही थी। असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर अमरीश देशमुख ने आरोपियों के पक्ष के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि उनका दावा है कि उन्होंने उसे पीछा करने से रोका था। रविवार रात सागर काते का टैंकर उसके घर के पास पंक्चर हो गया। सागर ने कहा कि विराज वहां शराब पीकर आया और उसे गालियां देने लगा। इस दौरान उनमें झगड़ा होने लगा। तभी परिवार के दो और लोग वहां आ गए और विराज के दोपहिया वाहन में टक्कर मारी और झगड़े में शामिल हो गए। पुलिस ने बताया कि हत्या, आपराधिक साजिश का केस सांगवी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है। एससी/एसटी एक्ट की धाराएं भी लगाई गई हैं। पुलिस इंस्पेक्टर अजय भोसले ने कहा कि कॉल रिकॉर्ड्स की जांच की जा रही है। लड़की से भी पूछताछ की जाएगी। आरोपी क्या कहते हैं उसके अभी मायने नहीं हैं।