CM नीतीश के उद्घाटन से पहले ही टूट गया करोड़ों का बांध, RJD बोली- नया ‘घोटाला’

bihar-dam

Dam Damaged In Bhagalpur Before Inauguration

पटना। बिहार के भागलपुर जिले में 400 करोड़ की लागत से बने बटेश्वर गंगा पंप कैनल प्रोजेक्ट का बांध मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के उदघाटन से ठीक पहले टूट गया। बुधवार को इस बांध का उदघाटन करने के लिये मुख्यमंत्री नीतीश आने वाले थे। बांध टूटने से पूरे कहल गांव में बाढ़ जैसा नजारा हो गया है। बांध से छूटा पानी शहरी इलाकों में भी घुस गया है। फिलहाल एनडीआरएफ़ की टीम को राहत कार्य के लिये लगाया गया है। इसी के साथ नीतीश कुमार के उदघाटन कार्यक्रम को भी रद्द कर दिया गया है।
बिहार-झारखंड की इस साझा परियोजना के जरिये भागलपुर में 18620 हेक्टेयर तथा झारखंड के गोड्डा जिला की 4038 हेक्टयर भूमि सिंचित होगी। इस परियोजना को पूरा होने में करीब 40 साल का समय लग गया। बांध उस समय टूटा जब इसे ट्रायल के लिये चालू किया गया। इस बांध में कुल 12 मोटर लगाए गए हैं, जिनमें से सिर्फ पांच को ही चालू किया गया था लेकिन करीब एक घंटे बाद ही बांध टूट गया। बांध के टूटने से आस-पास के इलाकों में गंगा का पानी भर गया है। फिलहाल बुधवार से बांध की मरम्मत का काम शुरू होगा, जिसके बाद ही इसका उद्घाटन हो पाएगा।
इस प्रोजेक्ट का भूमि पूजन 1977 में तत्कालीन जल संसाधन मंत्री और कहलगांव के उस वक्त विधायक सदानंद सिंह ने किया था। जब प्रोजेक्ट शुरू हुआ था तब इसकी लागत 13.88 करोड़ रुपए थी, लेकिन बढ़ते-बढ़ते यह 828.80 करोड़ हो गई।

आरजेडी ने लगाया घोटाले का आरोप-

बांध टूटने पर ​प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी आरजेडी ने नीतीश सरकार के खिलाफ भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए भागलपुर में मुख्यमंत्री और जल संसाधन मंत्री का पुतला फूंका। आरजेडी ने कहा है कि करोड़ों रुपये के सृजन घोटाले के बाद भागलपुर में एक नया ‘घोटाला’ सामने आया है।

पटना। बिहार के भागलपुर जिले में 400 करोड़ की लागत से बने बटेश्वर गंगा पंप कैनल प्रोजेक्ट का बांध मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के उदघाटन से ठीक पहले टूट गया। बुधवार को इस बांध का उदघाटन करने के लिये मुख्यमंत्री नीतीश आने वाले थे। बांध टूटने से पूरे कहल गांव में बाढ़ जैसा नजारा हो गया है। बांध से छूटा पानी शहरी इलाकों में भी घुस गया है। फिलहाल एनडीआरएफ़ की टीम को राहत कार्य के लिये लगाया गया है। इसी…