1. हिन्दी समाचार
  2. दारुल उलूम देवबंद ने जारी किया फतवा, जुमे की तरह ईद की नमाज भी घर में ही अदा करें

दारुल उलूम देवबंद ने जारी किया फतवा, जुमे की तरह ईद की नमाज भी घर में ही अदा करें

Darul Uloom Deoband Issued Fatwa Eid Prayers Like Jumme Also Performed At Home

सहारनपुर। भारत में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन 4 चल रहा है, मरीजो की संख्या 1 लाख के पार पहुंच चुकी है, ऐसे में सरकार ने सभी धार्मिक संस्थानो में प्रवेश वर्जित कर रखा है। इसी दौरान ईद का त्योहार भी आएगा। ईद पर मस्जिदों में विशेष नमाज होती है। इस दौरान काफी लोग जुटते हैं। लॉकडाउन के दौरान भीड़ न हो। इसके मद्देनजर इस्लामी शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने मंगलवार को एक फतवा जारी किया। फतवे में मुस्लिम समुदाय से ईद-उल-फितर की नमाज घर में ही अदा करने को कहा गया है।

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

रमजान का महीना चल रहा है। इस दौरान मुस्लिम समुदाय रोजा रखता है। रोजेदार सूरज निकलने से सूरज डूबने तक कुछ खाते-पीते नहीं हैं। यह महीना ईद का चांद दिखने के साथ खत्म होता है।

जुमे की तरह ईद की नमाज भी घर में ही अदा करें
दारुल उलूम के मीडिया प्रभारी अशरफ उस्मानी ने कहा, “कुलपति मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी के सवाल पर संस्थान के फतवा विभाग की एक पीठ ने यह फतवा जारी किया है। इसके मुताबिक, लॉकडाउन में जिस तरह से जुमे (शुक्रवार) की नमाज घर में पढ़ी जा रही है, उसी तरह ईद की नमाज भी घर में ही अदा की जाए।” फतवे में यह भी कहा गया है कि जिन लोगों को ईद की नमाज नहीं मिले, उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है। जो हालात हैं, ऐसे में उनकी ईद की नमाज माफ होगी।

इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने भी जारी की थी अपील
शरई मामलों पर सलाह जारी करने वाली संस्था इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया ने एडवाइजरी जारी की थी। इसमें कहा गया था कि ईद के दिन भी लोग किसी के घर न जाएं। गले भी न मिलें। इस दौरान लॉकडाउन का मुस्तैदी से पालन किया जाए।

पढ़ें :- सीएम योगी ने झांसी में स्ट्रॉबेरी महोत्सव का किया वर्चुअल शुभारम्भ, कहा-बुन्देलखण्ड में मिलेगी ...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...