निर्वाचन आयोग आज करेगा पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान

नई दिल्ली: निर्वाचन आयोग आज पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है। आज दोपहर बारह बजे चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस है जिसमें इन राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान होगा। ये चुनाव उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में होने हैं। उत्तर प्रदेश में पिछला विधानसभा चुनाव सात चरणों में हुआ था और इस बार भी ऐसी ही उम्मीद है।

तारीखों का ऐलान होते ही इन पांचों राज्‍यों में चुनाव आचार संहिता प्रभाव लागू हो जाएगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल 27 मई, उत्तराखंड का 26 मार्च और पंजाब विधानसभा का कार्यकाल 18 मार्च तक का है। पंजाब में 2012 के विधानसभा चुनाव 30 जनवरी को कराए गए थे। ऐसे में विधानसभा के कार्यकाल को देखते हुए फरवरी से पहले चुनाव कराना जरूरी है।




निर्वाचन आयोग से जुड़े सूत्र बता रहे हैं कि विधानसभा चुनाव की तैयारियों की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। केंद्रीय गृह मंत्रालय पांचों राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव के दौरान तैनाती के लिए करीब 85,000 सुरक्षाकर्मी देने की बात कर चुका है। चुनाव आयोग की योजना उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव सात चरणों में और अन्य राज्यों में एक चरण में कराने की है। लेकिन मणिपुर की स्थिति को देखते हुए पूर्वोत्तर के इस राज्य में एक से अधिक चरण में चुनाव कराए जा सकते हैं। फिलहाल इस बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है।

क्या होती है आचार संहिता-

आदर्श आचार संहिता यानी मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट चुनाव आयोग के वे निर्देश होते हैं जिनका पालन चुनाव खत्म होने तक हर पार्टी और उसके उम्मीदवार को करना होता है। चुनाव आचार संहिता के लागू होते ही प्रदेश सरकार और प्रशासन पर कई अंकुश लग जाते हैं। सरकारी कर्मचारी चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक निर्वाचन आयोग के कर्मचारी बन जाते हैं। अगर कोई उम्मीदवार इन नियमों का पालन नहीं करता तो चुनाव आयोग उसपर कार्रवाई कर सकता है। उसे चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है, चुनाव के बाद उसका निर्वाचन रद्द किया जा सकता है. दोषी पाए जाने पर उसे जेल भी जाना पड़ सकता है।