1. हिन्दी समाचार
  2. भारत का मोस्ट वॉन्टेड है दाऊद इब्राहिम, ब्लैक लिस्ट से बचने के लिए पाक का दांव, अपने ही रुख से फिर पलटा पाकिस्तान

भारत का मोस्ट वॉन्टेड है दाऊद इब्राहिम, ब्लैक लिस्ट से बचने के लिए पाक का दांव, अपने ही रुख से फिर पलटा पाकिस्तान

Dawood Ibrahim Is Indias Most Wanted Pakistans Bet To Avoid Black List Pakistan Reverses From Its Own Stand

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: दाऊद इब्राहिम पर पाकिस्तान का अब तक का सबसे बड़ा झूठ बेनकाब हो गया है. पाकिस्तान ने पहली बार मान लिया है कि भारत का मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही है. लेकिन इसके बाद पाकिस्तान खुद ही अपनी बात से इनकार कर दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में मौजूद होने की बात को नकार भी चुका है. दरअसल, पाकिस्तान ने खुद को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की ब्लैक लिस्ट से बचाने के लिए पाकिस्तान में मौजूद दाऊद इब्राहिम समेत 88 आतंकियों पर कार्रवाई का दिखावा किया और इसी दिखावे से ये तय हो गया कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही है. वैसे भारत बार-बार ये कहता रहा है कि पाकिस्तान दाऊद को पनाह दिए हुए है लेकिन अब पाकिस्तान का झूठ पकड़ा गया है.

पढ़ें :- महिला खिलाड़ी ने तोड़ा महेंद्र सिंह धोनी का रिकॉर्ड, जानिए पूरा मामला

कई बार भारत ने कहा कि मुंबई धमाकों का मास्टरमाइंड दाउद इब्राहिम पाकिस्तान में है लेकिन पाकिस्तान हर बार नकारता रहा. भारत पाकिस्तान से कहता रहा कि भारत के मोस्ट वॉन्टेड आतंकी को पाकिस्तान भारत के हवाले करे लेकिन पाकिस्तान भारत की बात को नकारता रहा. हालांकि, अब पाकिस्तान इस सच को छिपा नहीं सका, जब पाकिस्तान के ऊपर एफएटीएफ का दबाव बढ़ा.

पाकिस्तान को एफएटीएफ में ब्लैक लिस्ट हो जाने का डर था तो उसने 88 आतंकियों की एक लिस्ट एफएटीएफ (FATF) को सौंपी. इस लिस्ट में मोस्ट वॉन्टेड आतंकी दाऊद इब्राहिम का भी नाम है. एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट से बाहर आने के लिए पाकिस्तान ने ये नई चाला चली, मगर अपनी ही चाल से उसके झूठ का पर्दाफाश हो गया. पाकिस्तान ने एफएटीएफ की ग्रे लिस्ट से बाहर आने के लिए ये दिखावा किया कि उसने 88 आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की है. इन आतंकियों में हाफिज सईद, मसूद अजहर और दाऊद इब्राहिम का भी नाम शामिल है. पाकिस्तान ने माना कि दाऊद इब्राहिम कराची के व्हाइट हाउस में रहता है.

पाकिस्तान की सरकार ने कहा कि उसने दाऊद इब्राहिम के कहीं आने जाने पर पाबंदी लगाई गई है. हथियारों के व्यापार को रोक दिया गया है. दाऊद इब्राहिम से जुड़े सारे खाते सीज कर दिए गए हैं. पाकिस्तान की सरकार ने 18 अगस्त को दो अधिसूचनाएं जारी करते हुए 26/11 मुंबई हमले के साजिशकर्ता और जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद और जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर के अलावा अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहीम पर प्रतिबंधों की घोषणा की थी.

इसी घोषणा के साथ पाकिस्तान का सारा कच्चा चिट्ठा खुल गया क्योंकि उसने अनजाने में ये मान लिया कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में ही है. पाकिस्तान की ओर से दाऊद इब्राहिम के पाकिस्तान में तीन ठिकाने बताए गए हैं. इनमें सैटेलाइट इमेज से लिए एक एड्रेस के तौर पर बताया गया है कि दाऊद का ये घर कराची के डिफेंस फेज-5 की गली नंबर 30 में है, यहां दाऊद का घर नंबर 37 है.

पढ़ें :- संसद के बाद कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, विपक्ष कर रहा था इसका विरोध

इस सैटेलाइट इमेज के अलावा कराची में दाऊद का जो व्हाइट हाउस है, उसका नंबर 57 है. इसी व्हाइट हाउस को पहली बार आजतक ने टीवी पर दिखाया था. आजतक ने अपनी सुपर एक्सक्लूजिव रिपोर्ट के जरिए बताया था कि पाकिस्तान दाऊद को लेकर कैसे झूठ बोल रहा है. अब ये रिपोर्ट इस बात की पुष्टि करेगी कि आजतक ने वर्षों पहले जो सच दिखाया था. अंत में मजबूर होकर वो सच पाकिस्तान को भी मानना पड़ा.

साल 2011 में आजतक ने रिपोर्ट के जरिए दिखाया था कि दाऊद पाकिस्तान में ही रह रहा है. इसके अलावा 2015 में भारत ने पाकिस्तान को जो डोजियर सौंपा था, उसमें भारत की ओर से पाकिस्तान के कई ठिकाने बताए गए थे. उसके बारे में कई जानकारियां दी गईं थीं. भारत ने 2015 में जो डोजियर पाकिस्तान को सौंपा था उसमें दाऊद के जो ठिकाने बताए गए थे उनमें पहला व्हाइट हाउस, क्लिफ्टन, कराची, दूसरा खैबर तनजीम, डीएचए कराची, तीसरा मुरी रोड, इस्लामाबाद और चौथे मरगला रोड, इस्लामाबाद का जिक्र था. इनके अलावा भारत की तरफ से कहा गया था कि कराची और इस्लामाबाद में दाऊद के कुल 9 ठिकाने हैं.

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...