DDCA के अध्यक्ष रजत शर्मा ने अपने पद से दिया इस्तीफा

Rajat sharma
DDCA के अध्यक्ष रजत शर्मा ने अपने पद से दिया इस्तीफा

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार और क्रिकेट प्रशासक रजत शर्मा ने शनिवार को दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि संगठन के भीतर इतने दबावों में उनके लिए काम करना संभव नहीं है। रजत शर्मा के इस्तीफे की जानकारी डीडीसीए ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर दी। इसके साथ ही रजत शर्मा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से इस्तीफे का ऐलान किया।

Ddca President Rajat Sharma Resigns From His Post :

रजत शर्मा के 20 माह के कार्यकाल में महासचिव विनोद तिहारा से उनके मतभेद सार्वजनिक हुए। तिहारा को संगठन के भीतर भरपूर समर्थन मिल रहा है। रजत शर्मा ने कहा कि यहां क्रिकेट प्रशासन हर समय दबाव में काम करता है। मुझे लगता है कि निजी स्वार्थ यहां हर समय क्रिकेट के हितों के खिलाफ काम करते रहते हैं।

उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा लगता है कि ईमानदारी, पारदर्शिता और इंटीग्रिटी के साथ यहां काम करना संभव नहीं है। मैं किसी भी स्तर पर समझौता नहीं करना चाहता। बता दें कि पूर्व वित्त मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली के समर्थन के बाद रजत शर्मा डीडीसीए से जुड़े थे।

डीडीसीए के सूत्रों का कहना है कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद रजत शर्मा की जमीन कमजोर हो रही थी, क्योंकि जेटली ही उनकी असल ताकत थे। रजत शर्मा ने कहा कि मेरे कार्यकाल में बहुत-सी चीजें अवरुद्ध हो रही थीं। इसलिए मैंने खुद को इससे अलग कर लिया है। मैंने डीडीसीए के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा जुलाई 2018 में पूर्व क्रिकेटर मदन लाल को हराकर डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे। रजत शर्मा एक निजी हिंदी समाचार चैनल के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ हैं।

नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार और क्रिकेट प्रशासक रजत शर्मा ने शनिवार को दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि संगठन के भीतर इतने दबावों में उनके लिए काम करना संभव नहीं है। रजत शर्मा के इस्तीफे की जानकारी डीडीसीए ने अपने ऑफिशल ट्विटर अकाउंट पर दी। इसके साथ ही रजत शर्मा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से इस्तीफे का ऐलान किया। https://twitter.com/delhi_cricket/status/1195571526252163072 रजत शर्मा के 20 माह के कार्यकाल में महासचिव विनोद तिहारा से उनके मतभेद सार्वजनिक हुए। तिहारा को संगठन के भीतर भरपूर समर्थन मिल रहा है। रजत शर्मा ने कहा कि यहां क्रिकेट प्रशासन हर समय दबाव में काम करता है। मुझे लगता है कि निजी स्वार्थ यहां हर समय क्रिकेट के हितों के खिलाफ काम करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे ऐसा लगता है कि ईमानदारी, पारदर्शिता और इंटीग्रिटी के साथ यहां काम करना संभव नहीं है। मैं किसी भी स्तर पर समझौता नहीं करना चाहता। बता दें कि पूर्व वित्त मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली के समर्थन के बाद रजत शर्मा डीडीसीए से जुड़े थे। https://twitter.com/RajatSharmaLive/status/1195582018194530305 डीडीसीए के सूत्रों का कहना है कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद रजत शर्मा की जमीन कमजोर हो रही थी, क्योंकि जेटली ही उनकी असल ताकत थे। रजत शर्मा ने कहा कि मेरे कार्यकाल में बहुत-सी चीजें अवरुद्ध हो रही थीं। इसलिए मैंने खुद को इससे अलग कर लिया है। मैंने डीडीसीए के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है। आपको बता दें कि वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा जुलाई 2018 में पूर्व क्रिकेटर मदन लाल को हराकर डीडीसीए के अध्यक्ष बने थे। रजत शर्मा एक निजी हिंदी समाचार चैनल के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ हैं।