1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. आठ महीने बाद मिला शहीद जवान का शव, पार्थिव शरीर के इंताजर में परिजन

आठ महीने बाद मिला शहीद जवान का शव, पार्थिव शरीर के इंताजर में परिजन

By शिव मौर्या 
Updated Date

देहरादून। उत्तर कश्मीर में बर्फ में फिसलकर लापता हुए उत्तराखंड के शहीद जवान राजेंद्र का शव शनिवार को बारामुला जिले में​ स्थित गुलमर्ग क्षेत्र से बरामद किया गया है। वहीं, लापता शहीद जवान का शव मिलने के बाद उनके परिजनों को पार्थिव शरीर का इंतजार है। बताया जा रहा है कि शहीद का पार्थिव शरीर 18 अगस्त को देहरादून पहुंचेगा।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, जवान के पार्थिव शरीर का कोविड टेस्ट जम्मू में सेना के बेस अस्पताल में कराया जा रहा है। इस पूरी प्रक्रिया में दो दिन का समय लगने की संभावना है। लिहाजा जवान का शव दो दिन बाद देहरादून पहुंचेगा। जवान के शव मिलने की सूचना के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

परिवार के लोग बेसबरी से पार्थिव शरीर का इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि देहरादून निवासी शहीद हवलदार राजेन्द्र सिंह 11 गढ़वाल में तैनात थे। बीती आठ जनवरी को गुलमर्ग में डयूटी के दौरान वे एवलांच के कारण फिसलकर पाकिस्तान के बॉर्डर की तरफ गिर गए थे।

काफी खोजबीन के बाद भी उनका शव नही मिल पाया था। जिसके बाद सेना ने उन्हें पिछले माह शहीद घोषित कर दिया था। वहीं, सैन्य जवानों और बचाव दल ने बर्फ में लापता हुए जवान की कई दिनों तक खोजबीन की लेकिन उनका पता नहीं लगा।

इस बाबत उनके घर में चिट्ठी भी भेज दी गई थी। सेना द्वारा शहीद घोषित करने के बाद भी हवलदार राजेंद्र सिंह की पत्नी राजेश्वरी यह मानने को तैयार नहीं थीं।  उनका और उनके परिजनों का कहना था कि जवान नियंत्रण रेखा पर तैनात था, हो सकता है कि हिमस्खलन की चपेट में आकर वह सीमा पार पाकिस्तान चला गया हो।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...