एक साल पहले मर चुकी छात्रा अचानक हुई जिंदा, दो निर्दोष काट चुके हैं पांच माह की सजा

barabanki-case
एक साल पहले मर चुकी छात्रा अचानक हुई जिंदा, दो निर्दोष काट चुके हैं पांच माह की सजा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के दरियाबाद इलाके में रहने वाली एक छात्रा जिसकी एक साल पहले हत्या कर दी गयी थी वो अचानक जिंदा हो गयी और सही सलामत अपने पति के साथ बरामद की गयी। पुलिस ने छात्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

Dead Girl Found Alive By Accused In Barabanki :

मिली जानकारी के मुताबिक, दरियाबाद थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत नुहरेपुर अंतर्गत तारापुरगांव में भग्गुलाल यादव अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी बेटी नेहा यादव इंटर की छात्रा थी। एक साल पहले छह मार्च को स्कूल जाने के बाद वो गायब हो गई थी। इसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। इस बीच आठ मार्च को शारदा सहायक नहर सिरौलीगौसपुर की नहर में एक लड़की का शव पुलिस ने बरामद किया जिसकी शिनाख्त पिता भग्गुलाल ने अपनी पुत्री नेहा यादव के रूप में की।

छात्रा का शव बरामद होने के बाद परिजनों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद अज्ञात के नाम दर्ज हुए अपहरण और हत्या के मुकदमे में दो परिवारों की खुशियां तबाह हो गई। दो निर्दोष नवयुवक जेल भेजे गए। पांच माह जेल में रहने के बाद हाईकोर्ट से जमानत मंजूर हुई। इस साजिश का खुलासा तब हुआ जब दोनों युवकों ने मंगलवार को जहांगीराबाद थानाक्षेत्र से उक्त छात्रा को स्थानीय पुलिस की मदद से सकुशल बरामद कर लिया।

एसओ मदनपाल ने बताया कि पुलिस ने नेहा को उसके पति प्रेम चन्द यादव के घर से बरामद कर लिया। कोर्ट मैरिज करने के बाद वह पति संग जहांगीराबाद में रह रही थी। नेहा का तीन माह का एक बेटा भी है। वहीं लड़की नेहा यादव का कहना है कि वह अपनी हत्या के मामले से अनजान है। वह घर से अपने प्रेमी के साथ शादी के लिए भागी थी।

नेहा ने यह भी बताया कि अखबार की खबरों के जरिये जब मुझे जानकारी हुई तो मैंने अपने चाचा से फोन पर बात की। लेकिन मेरे चाचा ने मिलने से मना कर दिया। नेहा ने यह भी बताया कि उसके घर वालों और अनिल यादव के घरवालों के बीच जमीनी और चुनावी विवाद था।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले से बेहद चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के दरियाबाद इलाके में रहने वाली एक छात्रा जिसकी एक साल पहले हत्या कर दी गयी थी वो अचानक जिंदा हो गयी और सही सलामत अपने पति के साथ बरामद की गयी। पुलिस ने छात्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक, दरियाबाद थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत नुहरेपुर अंतर्गत तारापुरगांव में भग्गुलाल यादव अपने परिवार के साथ रहते हैं। उनकी बेटी नेहा यादव इंटर की छात्रा थी। एक साल पहले छह मार्च को स्कूल जाने के बाद वो गायब हो गई थी। इसके बाद पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया। इस बीच आठ मार्च को शारदा सहायक नहर सिरौलीगौसपुर की नहर में एक लड़की का शव पुलिस ने बरामद किया जिसकी शिनाख्त पिता भग्गुलाल ने अपनी पुत्री नेहा यादव के रूप में की। छात्रा का शव बरामद होने के बाद परिजनों ने सड़क जाम कर प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद अज्ञात के नाम दर्ज हुए अपहरण और हत्या के मुकदमे में दो परिवारों की खुशियां तबाह हो गई। दो निर्दोष नवयुवक जेल भेजे गए। पांच माह जेल में रहने के बाद हाईकोर्ट से जमानत मंजूर हुई। इस साजिश का खुलासा तब हुआ जब दोनों युवकों ने मंगलवार को जहांगीराबाद थानाक्षेत्र से उक्त छात्रा को स्थानीय पुलिस की मदद से सकुशल बरामद कर लिया। एसओ मदनपाल ने बताया कि पुलिस ने नेहा को उसके पति प्रेम चन्द यादव के घर से बरामद कर लिया। कोर्ट मैरिज करने के बाद वह पति संग जहांगीराबाद में रह रही थी। नेहा का तीन माह का एक बेटा भी है। वहीं लड़की नेहा यादव का कहना है कि वह अपनी हत्या के मामले से अनजान है। वह घर से अपने प्रेमी के साथ शादी के लिए भागी थी। नेहा ने यह भी बताया कि अखबार की खबरों के जरिये जब मुझे जानकारी हुई तो मैंने अपने चाचा से फोन पर बात की। लेकिन मेरे चाचा ने मिलने से मना कर दिया। नेहा ने यह भी बताया कि उसके घर वालों और अनिल यादव के घरवालों के बीच जमीनी और चुनावी विवाद था।