शव वाहन में जीवित हो उठा मुर्दा, बोला- हरी ओम कहां ले जा रहे हो हमें

भोपाल। पुनर्जन्म जैसी बातें अपने किस्सों और कहानियों में जरूर सुनी होंगी। कुछ ऐसे मामले भी सामने आए, जिसमें इंसान की मौत के कुछ घंटों बाद उसका जीवित हो जाना। ये मामले चौंकाने वाले जरूर होते हैं। कुछ ऐसा मामला भोपाल बैरागढ़ से सामने आया, यहां दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में इलाज के दौरान एक व्यक्ति को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पूरे परिवार में कोहराम मच गया, अंतिम संस्कार की तैयारियां शुरू हो गयी लेकिन अचानक शव वाहन में मृत व्यक्ति जीवित हो उठा और बोला, हरी ओम कहां ले जा रहे हैं हमें आप लोग।

बैरागढ़ के रहने वाले 70 साल के मोटूमल वासवानी को बीते 6 सितंबर को दिल का दौरा पड़ा था। मोटूमल को इलाज के लिये भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। सोमवार को अचनाक उनकी तबियत बिगड़ी, जिसके बाद डाक्टरों ने उन्हें वेंटीलेटर पर शिफ्ट कर दिया। मंगलवार को डॉक्टरों ने मोटूमल को मृत घोषित कर दिया था।
मौत की खबर परिजनों ने रिश्तेदारों को दे दी। उनके अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू कर दी गई। मोटूमल का शव अस्पताल से शव वाहन में रखकर घर लाया जा रहा था। शव वाहन जैसे ही बैरागढ़ के चंचल चौराहे के पास पहुंचा, मोटूमल उठकर बैठ गए और बोले, हरि ओम मुझे कहां ले कर जा रहे हो। मोटूमल के जीवित होने की खबर मिलते ही सब चौंक गए, उन्हे इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।
आपको बता दें कि मोटूमल वासवानी बैरागढ़ के एक प्रसिद्ध समाजसेवी कार्यकर्ता हैं। उन्होंने लगभग 200 से अधिक एनजीओ को संवैधानिक दर्जा दिलवाया है। इस मामले में मोटूमल के परिजनों ने चिरायू अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

{ यह भी पढ़ें:- दर्दनाक हादसा: बारातियो से भरी कार ट्रेन से टकराई, चार की मौत, कई घायल }

Loading...