कांग्रेस और जेडीएस में गठबंधन सीट बंटवारा भी हुआ तय

a

बेंगलुरु। कर्नाटक में कांग्रेस और जनता देल सेक्युलर यानि जेडीएस के गठबंधन में सीटों का बंटवारा हो गया है। राज्य में कुल 28 लोकसभा सीटें हैं जिनमें से 20 पर कांग्रेस और आठ सीटों पर जेडीएस चुनाव लड़ेगी। यहीं तीसरी मुख्य पार्टी भारतीय जनता पार्टी बीजेपीद्ध है।

Deal Between Congress And Jds Done For Loksabha :


बता दें कि राज्य में भी कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की ही सरकार है और जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री हैं। आपको बता दें कि जेडीएस ने पहले कर्नाटक की 28 में से 12 सीटों पर चुनाव लडऩे की इच्छा जताई थी लेकिन बाद में पार्टी ने 10 सीटों पर भी समझौता करने की बात कही थी। हालांकि अब उसके खात में सिर्फ आठ सीटें ही आई हैं।

बताते चलें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 17, कांग्रेस को 9 और जेडीएस को दो सीटों पर जीत मिली थी। जेडीएस को हासन, मांड्या, शिमोगा, उडुपी चिकमंगलूर, बेंगलुरु नॉर्थ, उत्तर कन्नड़, बीजापुर और तुमकुर सीटें मिली हैं। वहीं कांग्रेस को धारवाड़, दवनागिरी, दक्षिण कन्नड, चित्रदुर्ग, मैसूर, चामाराजनगर, बेंगलुरु ग्रामीण, बेंगलुरु सेंट्रल, बेंगलुरु साउथ, कोलार, चिक्काबल्लापुर, चिक्कोड़ी, बेलागावी, बागलकोट, कलबुर्गी, रायचुर, बीदर, कोप्पल, बेल्लरी और हावेरी सीटें मिली हैं।

उधर कांग्रेस ने सोमवार को सीटों और उम्मीदवारों के बारे में चर्चा करने के लिए पार्टी महासचिव की अगुवाई में चयन समिति की बैठक की। गुरुवार को कर्नाटक कांग्रेस की चुनाव समिति ने अपनी एक बैठक कर 28 में से 15 सीटों के लिए नामों के एक पैनल को अंतिम रूप दिया था। सूत्रों के अनुसार जेडीएस की हसन और मांड्या सीटें पार्टी के खाते में दी जाएंगी। इसके अलावा और किन सीटों को जेडीएस को दिया जाएगा इसका निर्णय दोनों पार्टियों के नेता मिलकर करेंगे।

बेंगलुरु। कर्नाटक में कांग्रेस और जनता देल सेक्युलर यानि जेडीएस के गठबंधन में सीटों का बंटवारा हो गया है। राज्य में कुल 28 लोकसभा सीटें हैं जिनमें से 20 पर कांग्रेस और आठ सीटों पर जेडीएस चुनाव लड़ेगी। यहीं तीसरी मुख्य पार्टी भारतीय जनता पार्टी बीजेपीद्ध है।


बता दें कि राज्य में भी कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की ही सरकार है और जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री हैं। आपको बता दें कि जेडीएस ने पहले कर्नाटक की 28 में से 12 सीटों पर चुनाव लडऩे की इच्छा जताई थी लेकिन बाद में पार्टी ने 10 सीटों पर भी समझौता करने की बात कही थी। हालांकि अब उसके खात में सिर्फ आठ सीटें ही आई हैं।

बताते चलें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को 17, कांग्रेस को 9 और जेडीएस को दो सीटों पर जीत मिली थी। जेडीएस को हासन, मांड्या, शिमोगा, उडुपी चिकमंगलूर, बेंगलुरु नॉर्थ, उत्तर कन्नड़, बीजापुर और तुमकुर सीटें मिली हैं। वहीं कांग्रेस को धारवाड़, दवनागिरी, दक्षिण कन्नड, चित्रदुर्ग, मैसूर, चामाराजनगर, बेंगलुरु ग्रामीण, बेंगलुरु सेंट्रल, बेंगलुरु साउथ, कोलार, चिक्काबल्लापुर, चिक्कोड़ी, बेलागावी, बागलकोट, कलबुर्गी, रायचुर, बीदर, कोप्पल, बेल्लरी और हावेरी सीटें मिली हैं।

उधर कांग्रेस ने सोमवार को सीटों और उम्मीदवारों के बारे में चर्चा करने के लिए पार्टी महासचिव की अगुवाई में चयन समिति की बैठक की। गुरुवार को कर्नाटक कांग्रेस की चुनाव समिति ने अपनी एक बैठक कर 28 में से 15 सीटों के लिए नामों के एक पैनल को अंतिम रूप दिया था। सूत्रों के अनुसार जेडीएस की हसन और मांड्या सीटें पार्टी के खाते में दी जाएंगी। इसके अलावा और किन सीटों को जेडीएस को दिया जाएगा इसका निर्णय दोनों पार्टियों के नेता मिलकर करेंगे।