अमेरिकी चेतावनी को भारत ने किया नजरअंदाज,रुस के साथ एस-400 मिसाइल डिफेंस डील पर लगी मुहर

deal on s-400 signed
अमेरिकी चेतावनी को भारत ने किया नजरअंदाज,रुस के साथ एस-400 मिसाइल डिफेंस डील पर लगी मुहर

नई दिल्ली। अमेरिकी तरफ से प्रतिबंधन की चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए भारत ने अपने पुराने मित्र रुस ने एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम करार पर दस्तखत कर दिया है। सूत्रों की मानें तो दोपहर बाद इसकी औपचारिक घोषणा की जा सकती है।

Deal For Five Russian S 400 Triumf Missile Shield Systems Has Been Signed By India :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीत दिल्ली के हैदराबाद हाउस में शुक्रवार को हुई द्विपक्षीय वार्ती के दौरान इस महत्वपूर्ण डील पर मुहर लगाई गई। इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए व्यक्तिगत रात्रिभोज का आयोजन किया था। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय सहयोग और रणनीतिक मुद्दों सहित अन्य ज्वलनशील मुद्दों पर चर्चा हुई।

बता दें कि रूसी राष्ट्रपति पुतिन के साथ उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी भारत आया है। इसमें उप प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव, विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और व्यापार और उद्योग मंत्री डेनिस मंटूरोव शामिल हैं। शुक्रवार को बैठक से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी और अंग्रेजी भाषाओं में ट्वीट किया, भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति पुतिन। हमारी बातचीत को लेकर उत्सुक हूं, इससे भारत-रूस संबंध और प्रगाढ़ होंगे।

नई दिल्ली। अमेरिकी तरफ से प्रतिबंधन की चेतावनी को नजरअंदाज करते हुए भारत ने अपने पुराने मित्र रुस ने एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम करार पर दस्तखत कर दिया है। सूत्रों की मानें तो दोपहर बाद इसकी औपचारिक घोषणा की जा सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीत दिल्ली के हैदराबाद हाउस में शुक्रवार को हुई द्विपक्षीय वार्ती के दौरान इस महत्वपूर्ण डील पर मुहर लगाई गई। इससे पहले पीएम मोदी ने गुरुवार को अपने सरकारी आवास पर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए व्यक्तिगत रात्रिभोज का आयोजन किया था। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय सहयोग और रणनीतिक मुद्दों सहित अन्य ज्वलनशील मुद्दों पर चर्चा हुई। बता दें कि रूसी राष्ट्रपति पुतिन के साथ उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी भारत आया है। इसमें उप प्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव, विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव और व्यापार और उद्योग मंत्री डेनिस मंटूरोव शामिल हैं। शुक्रवार को बैठक से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने रूसी और अंग्रेजी भाषाओं में ट्वीट किया, भारत में आपका स्वागत है राष्ट्रपति पुतिन। हमारी बातचीत को लेकर उत्सुक हूं, इससे भारत-रूस संबंध और प्रगाढ़ होंगे।