उन्नाव रेप मामले में आया फैसला : विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सजा, 25 लाख का जुर्माना

kuldeep singh
कुलदीप सिंह सेंगर पर आया फैसला

नई दिल्ली। उन्नाव दुष्कर्म मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मुश्किलें बढ़नी शुरू हो गयीं हैं। दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराया है। शुक्रवार दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में कुलदीप सिंह सेंगर मामले में सुनवाई शुरू की थी। इस मामले में कोर्ट ने अब सजा सुना दी है। कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुना दी है। अदालत ने कहा है कि कुलदीप सेंगर मृत्यु होने तक जेल में रहेंगे।

Decision On Kuldeep Singh Sengar :

कुलदीप सिंह सेंगर के लिए सीबीआई ने भी कोर्ट से उम्रकैद की सजा की मांग की थी। सीबीआई ने जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा से कहा था कि वह सेंगर को अधिकतम उम्रकैद की सजा दें क्योंकि यह एक व्यक्ति की व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई है। सीबीआई ने बलात्कार पीड़िता के लिए पर्याप्त मुआवजा देने का भी अनुरोध किया।

शशि सिंह को साक्ष्यों के अभाव में किया बरी
विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सोमवार को कोर्ट ने दोषी ठहराया था। कोर्ट ने मामले में आरोपी बनाई गई शशि सिंह की भूमिका को संदेह के घेरे में रखा। हालांकि, शशि ‌सिंह के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने और उनकी इसमें सीधे तौर पर भूमिका स्पष्ट नहीं होने के चलते कोर्ट ने उन्हें मामले से बरी कर दिया था।

अभी तीन और मामले हैं
बता दें कि, विधायक कुलदीप सेंगर पर अभी तीन और मामले दिल्ली की विशेष सीबीआई कोर्ट में चल रहे हैं। अभी सेंगर को रेप के मामले में दोषी करार दिया गया है। वर्ष 2017 में मामला सामने आने के बाद कुलदीप सेंगर को 14 अप्रैल, 2018 को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद बीजेपी ने उन्हें पार्टी से निष्काषित कर दिया था।

नई दिल्ली। उन्नाव दुष्कर्म मामले में विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मुश्किलें बढ़नी शुरू हो गयीं हैं। दुष्कर्म मामले में कोर्ट ने उन्हें दोषी ठहराया है। शुक्रवार दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में कुलदीप सिंह सेंगर मामले में सुनवाई शुरू की थी। इस मामले में कोर्ट ने अब सजा सुना दी है। कुलदीप सिंह सेंगर को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुना दी है। अदालत ने कहा है कि कुलदीप सेंगर मृत्यु होने तक जेल में रहेंगे। कुलदीप सिंह सेंगर के लिए सीबीआई ने भी कोर्ट से उम्रकैद की सजा की मांग की थी। सीबीआई ने जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा से कहा था कि वह सेंगर को अधिकतम उम्रकैद की सजा दें क्योंकि यह एक व्यक्ति की व्यवस्था के खिलाफ लड़ाई है। सीबीआई ने बलात्कार पीड़िता के लिए पर्याप्त मुआवजा देने का भी अनुरोध किया। शशि सिंह को साक्ष्यों के अभाव में किया बरी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सोमवार को कोर्ट ने दोषी ठहराया था। कोर्ट ने मामले में आरोपी बनाई गई शशि सिंह की भूमिका को संदेह के घेरे में रखा। हालांकि, शशि ‌सिंह के खिलाफ पर्याप्त सबूत न होने और उनकी इसमें सीधे तौर पर भूमिका स्पष्ट नहीं होने के चलते कोर्ट ने उन्हें मामले से बरी कर दिया था। अभी तीन और मामले हैं बता दें कि, विधायक कुलदीप सेंगर पर अभी तीन और मामले दिल्ली की विशेष सीबीआई कोर्ट में चल रहे हैं। अभी सेंगर को रेप के मामले में दोषी करार दिया गया है। वर्ष 2017 में मामला सामने आने के बाद कुलदीप सेंगर को 14 अप्रैल, 2018 को गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद बीजेपी ने उन्हें पार्टी से निष्काषित कर दिया था।