नए साल पर नियुक्त होंगे नए आर्मी चीफ, ये तीन नाम हैं रेस में सबसे आगे

नए साल पर नियुक्त होंगे नए आर्मी चीफ, ये तीन नाम हैं रेस में सबसे आगे
नए साल पर नियुक्त होंगे नए आर्मी चीफ, ये तीन नाम हैं रेस में सबसे आगे

नई दिल्ली। देश को अगले तीन महीने में नया सेना अध्यक्ष मिल जाएगा। दरअसल, भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं और ऐसे में अब उनके उत्तराधिकारी यानी नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि नए सेनाध्यक्ष की रेस में लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरावने, लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी सबसे आगे चल रहे हैं।

Defence Ministry Starts Next Army Chief Appointment Process :

बता दें कि वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने से कुछ महीने पहले ही नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी जाती है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति में रक्षा मंत्रालय का दखल बेहद कम होता है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति पर आखिरी फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी ही लेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अकेले मंत्री हैं जो नियुक्ति कमेटी में शामिल हैं।

गौरतलब है कि पहले नए सेनाध्यक्ष के चयन का ऐलान वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने के एक महीने पहले या फिर 45 दिन पहले होता था। हालांकि अब यह धारण बदल गई है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया उस समय शुरू की गई है, जब वर्तमान सेनाध्यक्ष बिपिन रावत रिटायर होने वाले हैं और पाकिस्तान के साथ भारत का तनाव गहराया हुआ है।

नई दिल्ली। देश को अगले तीन महीने में नया सेना अध्यक्ष मिल जाएगा। दरअसल, भारतीय सेनाध्यक्ष जनरल बिपिन रावत 31 दिसंबर को रिटायर हो रहे हैं और ऐसे में अब उनके उत्तराधिकारी यानी नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अधिकारियों ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि नए सेनाध्यक्ष की रेस में लेफ्टिनेंट जनरल एमएम नरावने, लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह और लेफ्टिनेंट जनरल एसके सैनी सबसे आगे चल रहे हैं। बता दें कि वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने से कुछ महीने पहले ही नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर दी जाती है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति में रक्षा मंत्रालय का दखल बेहद कम होता है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति पर आखिरी फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली कैबिनेट की नियुक्ति कमेटी ही लेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह अकेले मंत्री हैं जो नियुक्ति कमेटी में शामिल हैं। गौरतलब है कि पहले नए सेनाध्यक्ष के चयन का ऐलान वर्तमान सेनाध्यक्ष के रिटायर होने के एक महीने पहले या फिर 45 दिन पहले होता था। हालांकि अब यह धारण बदल गई है। नए सेनाध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया उस समय शुरू की गई है, जब वर्तमान सेनाध्यक्ष बिपिन रावत रिटायर होने वाले हैं और पाकिस्तान के साथ भारत का तनाव गहराया हुआ है।