1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. भारतीय सेना में शमिल होना चाहते थे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, इन कारणों से नहीं हो सका सपना पूर

भारतीय सेना में शमिल होना चाहते थे रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, इन कारणों से नहीं हो सका सपना पूर

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) शुक्रवार को असम राइफल्स और भारतीय सेना की 57वीं माउंटने डिवीजन के जवानों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो भी भारतीय सेना में शामिल होना चाहते थे लेकिन परिवारिक कारणों के चलते वो सेना में शामिल नहीं हो पाए हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) शुक्रवार को असम राइफल्स और भारतीय सेना की 57वीं माउंटने डिवीजन के जवानों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि वो भी भारतीय सेना में शामिल होना चाहते थे लेकिन परिवारिक कारणों के चलते वो सेना में शामिल नहीं हो पाए हैं।

पढ़ें :- Jagdeep Dhankhar: पीएम मोदी, गृहमंत्री, रक्षामंत्री से लेकर इन्होंने दी नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ को बधाई

रक्षामंत्री (Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि मैं अपने बचपन की कहानी बताना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि मैं भी सेना में शामिल होना चाहता था। इसको लेकर शार्ट सर्विस कमीशन की परीक्षा भी दी थी। लेकिन पिता जी के निधन और कुछ परिवारिक कारणों के चलते सेना में शामिल नहीं हो पाया।

रक्षामंत्री (Defense Minister Rajnath Singh) ने कहा कि यदि आप किसी बच्चे को सेना की वर्दी देते हैं तो आप देखेंगे कि उसका व्यक्तिव ही बदल जाता है। इस वर्दी में कुछ बात है। इसके साथ ही रक्षामंत्री ने भारत और चीन के बीच पैदा हुए गतिरोध के दौरान सुरक्षाबलों द्वारा दिखाए गए शौर्य को भी याद किया।

उन्होंने कहा कि, जब भारत-चीन गतिरोध जारी था, तब आपके पास शायद विस्तार से जानकारी नहीं होगी, लेकिन मैं और उस समय के सेना प्रमुख हमारे जवानों के साहस एवं बहादुरी से अवगत थे, हमारा देश आपका सदैव ऋणी रहेगा।

 

पढ़ें :- MiG-21 Fighter Plane Crash : वायुसेना का मिग-21 लड़ाकू विमान क्रैश, हिमाचल का लाल शहीद

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...