अमेरिका में महात्मा गांधी की मूर्ति को तोड़ना अपमानजनक : डोनाल्ड ट्रंप

trump
अमेरिका में महात्मा गांधी की मूर्ति को तोड़ना अपमानजनक : डोनाल्ड ट्रंप

नई दिल्ली। अमेरिका में महात्मा गांधी की मूर्ति को कुछ दिनों पूर्व तोड़ दिया गया था। इसको लेकर वहां के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि महात्मा गांधी की मूर्ति को अज्ञात लोगों द्वारा तोड़ना अपमानजनक है। दरअसल, कुछ दिनों पहले अमेरिका में अफ्रीकी-अमेरिकन अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद हिंसक प्रदर्शन हुए।

Deforming The Idol Of Mahatma Gandhi In America Is Humiliating Donald Trump :

इसी दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने महात्मा गांधी की मूर्ति पर स्प्रे पेंटिंग करके उसे नुकसान पहुंचाया। यह घटना वॉशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर दो जून और तीन जून की मध्यरात्रि को हुई थी। इसके बाद दूतावास के अधिकारियों ने स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी।

सोमवार को व्हाइट हाउस में टिप्पणी के दौरान ट्रंप ने घटना को अपमानजनक बताया। भारतीय दूतावास ने मामले की शुरुआती जांच के लिए अमेरिकी विदेश विभाग के साथ-साथ मेट्रोपॉलिटन पुलिस और नेशनल पार्क सर्विस के समक्ष इसे उठाया है। मूर्ति की शीघ्र बहाली को लेकर अमेरिकी विदेश विभाग, मेट्रोपॉलिटन पुलिस और राष्ट्रीय उद्यान सेवा मिलकर काम कर रहे हैं।

नई दिल्ली। अमेरिका में महात्मा गांधी की मूर्ति को कुछ दिनों पूर्व तोड़ दिया गया था। इसको लेकर वहां के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि महात्मा गांधी की मूर्ति को अज्ञात लोगों द्वारा तोड़ना अपमानजनक है। दरअसल, कुछ दिनों पहले अमेरिका में अफ्रीकी-अमेरिकन अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद हिंसक प्रदर्शन हुए। इसी दौरान कुछ प्रदर्शनकारियों ने महात्मा गांधी की मूर्ति पर स्प्रे पेंटिंग करके उसे नुकसान पहुंचाया। यह घटना वॉशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास के बाहर दो जून और तीन जून की मध्यरात्रि को हुई थी। इसके बाद दूतावास के अधिकारियों ने स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों के समक्ष शिकायत दर्ज कराई थी। सोमवार को व्हाइट हाउस में टिप्पणी के दौरान ट्रंप ने घटना को अपमानजनक बताया। भारतीय दूतावास ने मामले की शुरुआती जांच के लिए अमेरिकी विदेश विभाग के साथ-साथ मेट्रोपॉलिटन पुलिस और नेशनल पार्क सर्विस के समक्ष इसे उठाया है। मूर्ति की शीघ्र बहाली को लेकर अमेरिकी विदेश विभाग, मेट्रोपॉलिटन पुलिस और राष्ट्रीय उद्यान सेवा मिलकर काम कर रहे हैं।