दिल्ली विधानसभा चुनाव: विवादित बयान पर बोले कपिल मिश्रा- मैंने सच बोला है, कानून नहीं तोड़ा

kapil mishra
दिल्ली विधानसभा चुनाव: विवादित बयान पर बोले कपिल मिश्रा- मैंने सच बोला है, कानून नहीं तोड़ा

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार अपने चरम पर है। चुनाव आयोग के निर्देश पर मॉडल टाउन से भाजपा प्रत्याशी कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद शनिवार को मिश्रा ने फिर से बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जमीन पर चुनाव हार रही है। इसलिए वह चुनाव पुलिस स्टेशन और कोर्ट में कागज पर लड़ना चाहती है।

Delhi Assembly Elections Kapil Mishra Said On The Disputed Statement I Have Spoken The Truth I Have Not Broken The Law :

कपिल मिश्रा ने मिनी पाकिस्तान वाले बयान पर कहा कि मैंने सच बोला है और किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। बता दें कि आठ जनवरी को कपिल ने ट्वीट किया था कि आठ फरवरी यानी मतदान के दिन दिल्ली में भारत व पाकिस्तान के बीच रोमांचक मुकाबला होगा। मीडिया को बयान देते हुए कपिल ने विपक्ष पर आरोप लगाया था कि वे शाहीन बाग समेत कई इलाकों को ‘मिनी पाकिस्तान’ बना रहे हैं।

इसके बाद शुक्रवार को चुनाव आयोग के निर्देश पर मॉडल टाउन थाने में कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। इससे पहले आयोग ने नोटिस जारी कर भाजपा नेता कपिल मिश्रा से जवाब मांगा था। साथ ही ट्विटर से उन्हें ट्वीट हटाने को भी कहा। जिस पर उन्होंने ट्वीट हटाने से इंकार करते हुए चुनाव आयोग को अपना जवाब दे दिया था।

जवाब में मिश्रा ने कहा था कि जिस तरह से शाहीन बाग में सुरक्षा के साथ खिलवाड़ हो रहा है, उससे पाकिस्तानी हमारे देश में कुछ भी घटनाएं करवा सकते हैं। हमें इससे बचना चाहिए। उन्होंने अपने जवाब में शाहीन बाग के लोगों से लंबे समय से बंद रास्ते को खोलने के लिए भी अपील का की थी।

जवाब में कपिल मिश्रा ने दलील दी कि न तो शाहीन बाग के लोग उनके वोटर हैं और न ही वह शाहीन बाग से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए मैं अपने ट्वीट पर पूरी तरह से अडिग हूं। कपिल ने कहा कि शाहीन बाग में आतंकी आंदोलन चलाए जा रहे हैं। उनका ट्वीट आप नेता मनीष सिसोदिया के बयान के बाद आया था। यह उनकी अपनी निजी राय है।

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचार अपने चरम पर है। चुनाव आयोग के निर्देश पर मॉडल टाउन से भाजपा प्रत्याशी कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद शनिवार को मिश्रा ने फिर से बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जमीन पर चुनाव हार रही है। इसलिए वह चुनाव पुलिस स्टेशन और कोर्ट में कागज पर लड़ना चाहती है। कपिल मिश्रा ने मिनी पाकिस्तान वाले बयान पर कहा कि मैंने सच बोला है और किसी कानून का उल्लंघन नहीं किया है। बता दें कि आठ जनवरी को कपिल ने ट्वीट किया था कि आठ फरवरी यानी मतदान के दिन दिल्ली में भारत व पाकिस्तान के बीच रोमांचक मुकाबला होगा। मीडिया को बयान देते हुए कपिल ने विपक्ष पर आरोप लगाया था कि वे शाहीन बाग समेत कई इलाकों को ‘मिनी पाकिस्तान’ बना रहे हैं। इसके बाद शुक्रवार को चुनाव आयोग के निर्देश पर मॉडल टाउन थाने में कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी। इससे पहले आयोग ने नोटिस जारी कर भाजपा नेता कपिल मिश्रा से जवाब मांगा था। साथ ही ट्विटर से उन्हें ट्वीट हटाने को भी कहा। जिस पर उन्होंने ट्वीट हटाने से इंकार करते हुए चुनाव आयोग को अपना जवाब दे दिया था। जवाब में मिश्रा ने कहा था कि जिस तरह से शाहीन बाग में सुरक्षा के साथ खिलवाड़ हो रहा है, उससे पाकिस्तानी हमारे देश में कुछ भी घटनाएं करवा सकते हैं। हमें इससे बचना चाहिए। उन्होंने अपने जवाब में शाहीन बाग के लोगों से लंबे समय से बंद रास्ते को खोलने के लिए भी अपील का की थी। जवाब में कपिल मिश्रा ने दलील दी कि न तो शाहीन बाग के लोग उनके वोटर हैं और न ही वह शाहीन बाग से चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए मैं अपने ट्वीट पर पूरी तरह से अडिग हूं। कपिल ने कहा कि शाहीन बाग में आतंकी आंदोलन चलाए जा रहे हैं। उनका ट्वीट आप नेता मनीष सिसोदिया के बयान के बाद आया था। यह उनकी अपनी निजी राय है।