दिल्ली में राशन घोटाले पर राजनीति तेज, भाजपा ने केजरीवाल को बताया छोटा लालू

Arvind Kejriwal
दिल्ली में राशन घोटाले पर राजनीति तेज, भाजपा ने केजरीवाल को बताया छोटा लालू

नई दिल्ली। ईमानदार और भ्रष्टाचार मुक्त राजनीति का वादा कर दिल्ली की सत्ता में आई आम आदमी पार्टी (आप) केन्द्रीय नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट आने के बाद भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई है। कैग रिपोर्ट में दिल्ली में राशान वितरण योजना के अंतर्गत सरकारी खजाने को 5600 करोड़ का नुकसान होने की बात कही गई है। कैग ने सरकारी दस्तावेजों की जांच में पाया है एफसीआई की गोदाम से राशन की ढुलाई के लिए मोटर साइकिल, टैम्पो, टैक्सी और स्कूटर जैसे वाहनों प्रयोग किया गया। वहीं साल 2016-17 में जिन 207 वाहनों का प्रयोग राशन की ढुलाई के लिए किया गया उनमें से 42 का ​रजिस्ट्रेशन ही नहीं हुआ था। इन तथ्यों के आधार पर राशन के वितरण में बड़े स्तर पर हुई चोरी होने के आरोप गलने लगे हैं।

राशन घोटाले के सामने आने के बाद दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि जिस तरह से बिहार में लालू प्रसाद यादव ने जानवरों का चारा खा लिया, उसी तर्ज पर अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली वालों का राशन खा लिया है। अरविन्द केजरीवाल छोटे लालू हो गए हैं। उनकी ईमानदारी का ढ़ोंग करने वाले अरविन्द केजरीवाल को घोटाले की जिम्मेदारी लेते हुए तुरंत अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- आवंटी की मौत के बाद उसी के नाम से प्लाट की हुई दो बार रजिस्ट्री, एलडीए कराए एफआईआर }

दिल्ली सरकार ने क्या कहा ?

कैग ​रिपोर्ट सामने आने के बाद भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रही आप सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सरकार का पक्ष रखते हुए कहा है कि कैग रिपोर्ट में सामने आए आंकड़े पिछले 10 सालों के हैं। जिसके लिए उनकी सरकार की जवाब देही नहीं है।

कपिल मिश्रा को मिला मौका —

आप सरकार के पूर्व मंत्री और बागी विधायक कपिल मिश्रा ने भी कैग रिपोर्ट को लेकर सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने दिल्ली के खाद्य एवं रशद मंत्री इमरान हुसैन पर भ्रष्टाचार के सीधे आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली में पिछले दिनों चार लाख फर्जी राशन कार्ड मिले थे। इन राशन कार्डों को इमरान हुसैन ने मंत्री होते हुए रद्द नहीं किया। इन चार लाख राशन कार्डों के जरिए ही प्रति माह 150 करोड़ का घोटाला घोटाला अंजाम दिया गया है। यानी सालाना 1800 करोड़ का घोटाला हुआ है। केजरीवाल सरकार को बने तीन साल हुए है। कैग रिपोर्ट में यही घोटाला 5600 करोड़ के नुकासन के रूप में सामने आया है।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली सरकार और उपराज्यपाल की जंग पर 'सुप्रीम' फैसला }

कपिल मिश्रा ने मीडिया के सामने कहा है कि वह कैग रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई कार्यालय में जाकर मंत्री इमरान हुसैन के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाएंगे।

भाजपा करेगी विधानसभा का घेराव —

5600 करोड़ के राशन घोटाले के विरोध में भाजपा ने गुरुवार को विधानसभा के घेराव की तैयारी की है। जिसका नेतृत्व प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी करेंगे।

{ यह भी पढ़ें:- आप के धरने के बाद HC ने पूछा, एलजी हाउस में किसने दी धरने की अनुमति }

नई दिल्ली। ईमानदार और भ्रष्टाचार मुक्त राजनीति का वादा कर दिल्ली की सत्ता में आई आम आदमी पार्टी (आप) केन्द्रीय नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (कैग) की रिपोर्ट आने के बाद भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई है। कैग रिपोर्ट में दिल्ली में राशान वितरण योजना के अंतर्गत सरकारी खजाने को 5600 करोड़ का नुकसान होने की बात कही गई है। कैग ने सरकारी दस्तावेजों की जांच में पाया है एफसीआई की गोदाम से राशन की ढुलाई के लिए मोटर साइकिल,…
Loading...