JNU का नाम MNU कर दो, मोदी जी के नाम पर भी तो कुछ होना चाहिए: भाजपा सांसद

hans raj hans
JNU का नाम MNU कर दो, मोदी जी के नाम पर भी तो कुछ होना चाहिए: भाजपा सांसद

नई दिल्ली। बीजेपी सांसद हंस राज हंस ने जेएनयू में अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि दुआ करो सब अमन से रहें। बम ना चले। हमारे बजुर्गों ने गलतियां की हैं, हम भुगत रहे हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने जेएनयू का नाम बदलने की भी पेशकश की। हंस राज हंस ने कहा की इसका नाम बदलकर एमएनयू कर दो। मोदी जी के नाम पर भी कुछ होना चाहिए।’

Delhi Bjp Mp Hansraj Hans Speaks On Article 370 In Jnu :

इसके अलावा उन्होंने कहा कि ‘लोग किसी भी तरफ से मरें, मरता एक मां का बेटा है, बाद में चाहे उन्हें सम्मानित करते रहें लेकिन मां का बेटा तो वापिस नहीं आता।’ उन्होंने वहां बैठे लोगों से पूछा कि ‘इसका नाम जेएनयू क्यों है?’ फिर लोगों द्वारा JNU का मतलब जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी बताए जाने पर उन्होंने कहा कि ‘उन्हीं की वजह से (कश्मीर में) कुछ हुआ था। मैं तो कहता हूं, सुनने में अजीब लगेगा कि इसका नाम MNU कर दो। मोदी जी के नाम पर भी कुछ होना चाहिए।’

बता दें कि हंसराज हंस जेएनयू (JNU) में छात्रों को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले भी लोकसभा में बोलते हुए हंसराज हंस पीएम मोदी की तारीफ कर चुके हैं। इसके साथ ही पंजाब में नशाखोरी को खत्‍म करने के लिए मजबूत कदम उठाए जाने की मांग भी कर चुके हैं।

उत्तर पश्चिम दिल्ली से बीजेपी सांसद और मशहूर गायक हंसराज हंस (Hansraj Hans) लोकसभा में भी शायराना अंदाज में अपनी बातें रखते हैं. हाल ही में उन्‍होंने सदन में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के सामने कविता सुनाई. उन्होंने कहा, ‘जिंदगी दी है तो जीने का हुनर भी देना, पांव बख्से हैं तो तौफीके सफर भी देना। गुफ्तगूं तूने सिखाई है कि मैं गूंगा था, अब मैं बोलूंगा तो बातों में असर भी देना।

नई दिल्ली। बीजेपी सांसद हंस राज हंस ने जेएनयू में अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि दुआ करो सब अमन से रहें। बम ना चले। हमारे बजुर्गों ने गलतियां की हैं, हम भुगत रहे हैं। इसके साथ ही उन्‍होंने जेएनयू का नाम बदलने की भी पेशकश की। हंस राज हंस ने कहा की इसका नाम बदलकर एमएनयू कर दो। मोदी जी के नाम पर भी कुछ होना चाहिए।' इसके अलावा उन्होंने कहा कि ‘लोग किसी भी तरफ से मरें, मरता एक मां का बेटा है, बाद में चाहे उन्हें सम्मानित करते रहें लेकिन मां का बेटा तो वापिस नहीं आता।’ उन्होंने वहां बैठे लोगों से पूछा कि ‘इसका नाम जेएनयू क्यों है?’ फिर लोगों द्वारा JNU का मतलब जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी बताए जाने पर उन्होंने कहा कि ‘उन्हीं की वजह से (कश्मीर में) कुछ हुआ था। मैं तो कहता हूं, सुनने में अजीब लगेगा कि इसका नाम MNU कर दो। मोदी जी के नाम पर भी कुछ होना चाहिए।' बता दें कि हंसराज हंस जेएनयू (JNU) में छात्रों को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले भी लोकसभा में बोलते हुए हंसराज हंस पीएम मोदी की तारीफ कर चुके हैं। इसके साथ ही पंजाब में नशाखोरी को खत्‍म करने के लिए मजबूत कदम उठाए जाने की मांग भी कर चुके हैं। उत्तर पश्चिम दिल्ली से बीजेपी सांसद और मशहूर गायक हंसराज हंस (Hansraj Hans) लोकसभा में भी शायराना अंदाज में अपनी बातें रखते हैं. हाल ही में उन्‍होंने सदन में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला के सामने कविता सुनाई. उन्होंने कहा, 'जिंदगी दी है तो जीने का हुनर भी देना, पांव बख्से हैं तो तौफीके सफर भी देना। गुफ्तगूं तूने सिखाई है कि मैं गूंगा था, अब मैं बोलूंगा तो बातों में असर भी देना।