सीएम केजरीवाल की नीली वैगनआर कार चोरी

Wagaonr
सीएम केजरीवाल की नीली वैगनआर कार चोरी

नई दिल्ली। कभी दिल्ली की सड़कों पर अरविन्द केजरीवाल की पहचान रही नीली वैगनआर कार को चोरों ने पार कर दिया है। वह भी तब जब अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री है। सबसे बड़ी बात यह रही कि चोरों ने जिस जगह से कार को चोरी किया वह दिल्ली सरकार का सचिवालय है यानी मुख्यमंत्री केजरीवाल का कार्यालय। अपने संघर्ष के समय में केजरीवाल अपनी वैगनआर कार को सादगी और ईमानदारी के प्रतीक के रूप में पेश करते रहे हैं।

Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal Became Victim Of Auto Lifting :

बताया जा रहा है कि केजरीवाल की चोरी हुई कार का प्रयोग आम आदमी पार्टी की मीडिया कोआर्डिनेटर वंदना सिंह कर रहीं थी। उन्होंने सचिवालय की पार्किंग में कार को खड़ा किया था। वंदना दोबारा कार तक पहुंची तो गाड़ी मौके से गायब थी। जिसके बाद उन्होंने आसपास तलाश की और अंत में पुलिस को सूचना दी गई।

शिकायत के बाद हरकत में आई दिल्ली पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज में नीली वैगनआर कार को एक युवक ले जाता नजर आया है। फिलहाल युवक की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस मामले की तहकीकात कर रहा है। गाड़ी लेजाने वाले युवक की पहचान करने के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाल रही है। फिलहाल अबतक पुलिस खाली हाथ नजर आ रही है।

नई दिल्ली। कभी दिल्ली की सड़कों पर अरविन्द केजरीवाल की पहचान रही नीली वैगनआर कार को चोरों ने पार कर दिया है। वह भी तब जब अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री है। सबसे बड़ी बात यह रही कि चोरों ने जिस जगह से कार को चोरी किया वह दिल्ली सरकार का सचिवालय है यानी मुख्यमंत्री केजरीवाल का कार्यालय। अपने संघर्ष के समय में केजरीवाल अपनी वैगनआर कार को सादगी और ईमानदारी के प्रतीक के रूप में पेश करते रहे हैं।बताया जा रहा है कि केजरीवाल की चोरी हुई कार का प्रयोग आम आदमी पार्टी की मीडिया कोआर्डिनेटर वंदना सिंह कर रहीं थी। उन्होंने सचिवालय की पार्किंग में कार को खड़ा किया था। वंदना दोबारा कार तक पहुंची तो गाड़ी मौके से गायब थी। जिसके बाद उन्होंने आसपास तलाश की और अंत में पुलिस को सूचना दी गई।शिकायत के बाद हरकत में आई दिल्ली पुलिस का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज में नीली वैगनआर कार को एक युवक ले जाता नजर आया है। फिलहाल युवक की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस मामले की तहकीकात कर रहा है। गाड़ी लेजाने वाले युवक की पहचान करने के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाल रही है। फिलहाल अबतक पुलिस खाली हाथ नजर आ रही है।