दिल्ली के CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान, कच्ची कॉलोनियों के मकानों की होगी रजिस्ट्री

arvindra
दिल्ली के CM केजरीवाल का बड़ा ऐलान, कच्ची कॉलोनियों के मकानों की होगी रजिस्ट्री

नई दिल्ली। राजधानी की कच्ची कॉलोनियों में रहने वालों लोगों के लिए आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ा ऐलान किया। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अब अनधिकृत कॉलोनी के मकानों की रजिस्ट्री शुरू होगी।

Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal Big Announce Unauthorised Colonies Buildings Registration :

अरविंद केजरीवाल ने आज यानी गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अभी तक इन कॉलोनियों में रहने वाले लोगों के साथ धोखा होता रहा है. हमने वर्ष 2015 में प्रस्ताव पास कर के केंद्र को भेजा था, हमें खुशी हुई कि केंद्र सरकार ने हमारे प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है

इस दौरान केजरीवाल ने केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि इसके लिए मैं केंद्र सरकार को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा, हमें खुशी है कि जो सपना इन लोगों ने देखा था, वो अब पूरा होने जा रहा है।

बता दें कि दिल्ली में अनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लाखों लोगों की लंबे समय से इनको नियमित करने की मांग थी। लंबे समय बाद उनका ये इंतजार खत्म होने जा रहा है। फरवरी 2015 में सत्ता में आने के बाद केजरीवाल सरकार ने अभी तक 1 भी कॉलोनी को नियमित नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि अगले कुछ महीनों में इनमें संपत्ति की रजिस्ट्री का कार्य शुरू हो सकेगा।

देश की राजधानी दिल्ली में अनाधिकृत कॉलोनियों की संख्या 1800 से ज्यादा हो चुकी है। इनमें बने लाखों घरों के रजिस्ट्रेशन से सरकार को करोड़ों रूपयों का अतिरिक्त टैक्स मिलेगा।

नई दिल्ली। राजधानी की कच्ची कॉलोनियों में रहने वालों लोगों के लिए आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बड़ा ऐलान किया। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अब अनधिकृत कॉलोनी के मकानों की रजिस्ट्री शुरू होगी। अरविंद केजरीवाल ने आज यानी गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि अभी तक इन कॉलोनियों में रहने वाले लोगों के साथ धोखा होता रहा है. हमने वर्ष 2015 में प्रस्ताव पास कर के केंद्र को भेजा था, हमें खुशी हुई कि केंद्र सरकार ने हमारे प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है इस दौरान केजरीवाल ने केंद्र सरकार का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि इसके लिए मैं केंद्र सरकार को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा, हमें खुशी है कि जो सपना इन लोगों ने देखा था, वो अब पूरा होने जा रहा है। बता दें कि दिल्ली में अनाधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले लाखों लोगों की लंबे समय से इनको नियमित करने की मांग थी। लंबे समय बाद उनका ये इंतजार खत्म होने जा रहा है। फरवरी 2015 में सत्ता में आने के बाद केजरीवाल सरकार ने अभी तक 1 भी कॉलोनी को नियमित नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है कि अगले कुछ महीनों में इनमें संपत्ति की रजिस्ट्री का कार्य शुरू हो सकेगा। देश की राजधानी दिल्ली में अनाधिकृत कॉलोनियों की संख्या 1800 से ज्यादा हो चुकी है। इनमें बने लाखों घरों के रजिस्ट्रेशन से सरकार को करोड़ों रूपयों का अतिरिक्त टैक्स मिलेगा।