अमित शाह से मुलाकात करेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

arvind
अमित शाह से मुलाकात करेंगे दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली में चुनावी जीत हासिल करने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) बुधवार को पहली बार गृह मंत्री अमित शाह (Amit shah) से मिलेंगे। शाह के साथ होने वाले इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताया जा रहा है। जिसमें सभी कैबिनेट मंत्री मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि इस बैठक में सीएम केजरीवाल कुछ बड़े फैसले ले सकते हैं। 
 
गौरतलब है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं है और कानून व्यवस्था सहित कई अहम जिम्मेदारी केंद्र सरकार के अधीन है। केजरीवाल सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्र और राज्य सरकार के बीच लगातार टकराव होता रहा। हालांकि इस बार केजरीवाल ने सहयोग के रास्ते पर चलने की इच्छा जताई है।

Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal To Meet Amit Shah :

हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में गृहमंत्री अमित शाह ने बेहद आक्रामक तरीके से प्रचार किया था। उन्होंने शाहीन बाग सहित कई मुद्दों पर केजरीवाल सरकार को घेरने की कोशिश की। चुनाव में जीत के बाद केजरीवाल ने शपथ ग्रहण समारोह के दौरान भाषण में कहा था कि वह दिल्ली के विकास के लिए केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। उन्होंने पीएम मोदी से आशीर्वाद की भी अपेक्षा की थी।  

कल उपराज्यपाल से मिले थे केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की। राजनिवास पर दोनों के बीच दिल्ली को बेहतर बनाने पर चर्चा हुई। अधिकारियों का कहना है नई सरकार की कैबिनेट बैठक से एक दिन पहले हुई इस मुलाकात के दौरान विधानसभा सत्र बुलाने से जुड़ी औपचारिकताओं पर बातचीत की।

एक्शन मोड में सरकार, गारंटी पूरी करने पर दम लगाएंगे केजरीवाल

दिल्ली की नई सरकार कामकाज संभालते ही एक्शन मोड में आ गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का फोकस चुनाव के दौरान जारी किए गए गारंटी कार्ड पर है। इस बारे में उन्होंने बुधवार को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। इसमें आम आदमी पार्टी (आप) की तरफ से दी गई दस गारंटी की कार्ययोजना पर चर्चा होगी। छात्रों की मुफ्त बस यात्रा, 24 घंटे पानी की सप्लाई, यमुना नदी की सफाई और मोहल्ला मार्शल की तैनाती पर खास फोकस रहेगा।  

नई दिल्ली। दिल्ली में चुनावी जीत हासिल करने के बाद सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) बुधवार को पहली बार गृह मंत्री अमित शाह (Amit shah) से मिलेंगे। शाह के साथ होने वाले इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात बताया जा रहा है। जिसमें सभी कैबिनेट मंत्री मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि इस बैठक में सीएम केजरीवाल कुछ बड़े फैसले ले सकते हैं।    गौरतलब है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं है और कानून व्यवस्था सहित कई अहम जिम्मेदारी केंद्र सरकार के अधीन है। केजरीवाल सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्र और राज्य सरकार के बीच लगातार टकराव होता रहा। हालांकि इस बार केजरीवाल ने सहयोग के रास्ते पर चलने की इच्छा जताई है। हाल ही में संपन्न विधानसभा चुनाव में गृहमंत्री अमित शाह ने बेहद आक्रामक तरीके से प्रचार किया था। उन्होंने शाहीन बाग सहित कई मुद्दों पर केजरीवाल सरकार को घेरने की कोशिश की। चुनाव में जीत के बाद केजरीवाल ने शपथ ग्रहण समारोह के दौरान भाषण में कहा था कि वह दिल्ली के विकास के लिए केंद्र सरकार के साथ मिलकर काम करना चाहते हैं। उन्होंने पीएम मोदी से आशीर्वाद की भी अपेक्षा की थी।   कल उपराज्यपाल से मिले थे केजरीवाल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की। राजनिवास पर दोनों के बीच दिल्ली को बेहतर बनाने पर चर्चा हुई। अधिकारियों का कहना है नई सरकार की कैबिनेट बैठक से एक दिन पहले हुई इस मुलाकात के दौरान विधानसभा सत्र बुलाने से जुड़ी औपचारिकताओं पर बातचीत की। एक्शन मोड में सरकार, गारंटी पूरी करने पर दम लगाएंगे केजरीवाल दिल्ली की नई सरकार कामकाज संभालते ही एक्शन मोड में आ गई है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का फोकस चुनाव के दौरान जारी किए गए गारंटी कार्ड पर है। इस बारे में उन्होंने बुधवार को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। इसमें आम आदमी पार्टी (आप) की तरफ से दी गई दस गारंटी की कार्ययोजना पर चर्चा होगी। छात्रों की मुफ्त बस यात्रा, 24 घंटे पानी की सप्लाई, यमुना नदी की सफाई और मोहल्ला मार्शल की तैनाती पर खास फोकस रहेगा।