दिल्ली चुनाव: ‘मिनी पाकिस्तान’ वाले ट्वीट पर घिरे कपिल मिश्रा, चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस

kapil mishra
दिल्ली चुनाव: 'मिनी पाकिस्तान' वाले ट्वीट पर कपिल मिश्रा को चुनाव आयोग ने भेजा नोटिस

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार कपिल मिश्रा को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है। कपिल मिश्रा के ‘मिनी पाकिस्तान’ वाले उनके आपत्तिजनक बयान पर रिटर्निंग ऑफिसर ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस पर अपनी प्रतिक्रिया में कपिल मिश्रा ने कहा है कि उन्हें चुनाव आयोग की ओर से नोटिस मिला है। मैं इसका जवाब दूंगा। मैंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। इस देश में सच बोलना कोई गुनाह नहीं है। मैं अपने बयान पर कायम हूं।

Delhi Election Kapil Mishra Surrounded By Mini Pakistan Tweet Election Commission Sent Notice :

गुरुवार को कपिल मिश्रा ने लिखा था, ‘आठ फरवरी को दिल्ली में भारत बनाम पाकिस्तान होगा। 8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा।’ इतना ही नहीं कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग (जहां सीएए का विरोध चल रहा) को ‘मिनी पाकिस्तान’ तक कह दिया था। वहीं बीजेपी के कुछ अन्य नेताओं ने शाहीन बाग को ‘शेम बाग’ कहा।

कपिल के इस ट्वीट की कांग्रेस ने निंदा की थी। उन्होंने कहा था कि विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ‘हमारे शत्रुओं, एक पड़ोसी देश, जो हम पर आतंकवाद का आक्रमण करता है, उससे एक गणतांत्रिक-लोकतांत्रिक विपक्ष की बराबरी करना भारत की अस्मिता के विरुद्ध है।’ उन्होंने आगे कहा था, ‘हम इसकी भर्त्सना करते हैं। हां, आप लोकतांत्रिक तरीकों से जीतिए। आपका स्वागत है।’  

कपिल मिश्रा ने नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को लेकर शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को लेकर कहा कि लोग ऑफिस, स्कूल और अस्पतालों में नहीं जा पा रहे हैं। यहां पर आपत्तिजनक नारे लगाए जा रहे हैं। इसमें सबसे शर्मनाक बात यह है कि मनीष सिसोदिया कह रहे हैं कि वह शाहीन बाग में प्रदर्शकारियों के साथ हैं। ऐसे में जाहिर है कि यह राजनीतिक आंदोलन है।   

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार कपिल मिश्रा को चुनाव आयोग ने नोटिस भेजा है। कपिल मिश्रा के 'मिनी पाकिस्तान' वाले उनके आपत्तिजनक बयान पर रिटर्निंग ऑफिसर ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस पर अपनी प्रतिक्रिया में कपिल मिश्रा ने कहा है कि उन्हें चुनाव आयोग की ओर से नोटिस मिला है। मैं इसका जवाब दूंगा। मैंने कुछ भी गलत नहीं कहा है। इस देश में सच बोलना कोई गुनाह नहीं है। मैं अपने बयान पर कायम हूं। गुरुवार को कपिल मिश्रा ने लिखा था, ‘आठ फरवरी को दिल्ली में भारत बनाम पाकिस्तान होगा। 8 फरवरी को दिल्ली की सड़कों पर हिंदुस्तान और पाकिस्तान का मुकाबला होगा।’ इतना ही नहीं कपिल मिश्रा ने शाहीन बाग (जहां सीएए का विरोध चल रहा) को ‘मिनी पाकिस्तान’ तक कह दिया था। वहीं बीजेपी के कुछ अन्य नेताओं ने शाहीन बाग को ‘शेम बाग’ कहा। कपिल के इस ट्वीट की कांग्रेस ने निंदा की थी। उन्होंने कहा था कि विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ है। पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, ‘हमारे शत्रुओं, एक पड़ोसी देश, जो हम पर आतंकवाद का आक्रमण करता है, उससे एक गणतांत्रिक-लोकतांत्रिक विपक्ष की बराबरी करना भारत की अस्मिता के विरुद्ध है।’ उन्होंने आगे कहा था, ‘हम इसकी भर्त्सना करते हैं। हां, आप लोकतांत्रिक तरीकों से जीतिए। आपका स्वागत है।’   कपिल मिश्रा ने नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर को लेकर शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन को लेकर कहा कि लोग ऑफिस, स्कूल और अस्पतालों में नहीं जा पा रहे हैं। यहां पर आपत्तिजनक नारे लगाए जा रहे हैं। इसमें सबसे शर्मनाक बात यह है कि मनीष सिसोदिया कह रहे हैं कि वह शाहीन बाग में प्रदर्शकारियों के साथ हैं। ऐसे में जाहिर है कि यह राजनीतिक आंदोलन है।