दिल्ली अग्निकांड : मिलिए इस दमकलकर्मी से जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर 11 लोगों की बचाई जिंदगी

rajesh shukla
दिल्ली अग्निकांड : मिलिए ऐसे दमकलकर्मी से जिन्होंने अपनी जान पर खेलकर 11 लोगों की बचाई जिंदगी

नई दिल्ली। दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में लगी भीषण आग ने 43 लोगों की जिंदगियां लील लीं। आग की सूचना पर 30 दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची थी और राहत व बचाव कार्य शुरू किया था। वहीं इस दौरान एक ऐसे दमकलकर्मी थे, जिन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर 11 लोगों की जिंदगी बचाई। इस ‘रियल हीरो’ का नाम राजेश शुक्ला है।

Delhi Fire Meet Firefighters Who Saved 11 Lives By Playing On Their Lives :

सोशल मीडिया से लेकर हर जगह इस ‘रियल हीरो’ की जमकर तारिफ हो रही है। खास बात यह है कि आग लगने की सूचना पर जब दमकलकर्मी पहुंचे थे तो सबसे पहले इमारत के भीतर राजेश शुक्ला ही घुसे थे। अपनी जान की परवार किए बगैर वह देवदूत बनकर लोगों को आग से घिरी बिल्डिंग से बाहर निकालने में जुट गए।

राहत कार्य के दौरान उनके पैर में चोट भी आ गई और एलएनजेपी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उनकी बहादुरी की दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी तारीफ की है और अस्पताल में उनसे मुलाकात की। इस दौरान दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन भी मौजूद थे।

जैन ने ट्वीट किया, ‘दमकलकर्मी राजेश शुक्ला असली हीरो हैं। वह पहले फायरमैन हैं जो इमारत में घुसे और 11 जिंदगियां बचाईं। उन्होंने तब तक अपना काम जारी रखा जब तक उनकी खुद की हड्डियां चोटिल नहीं हो गईं। मैं इस बहादुर हीरो को सलाम करता हूं।’ उन्होंने राजेश शुक्ला से अपनी मुलाकात की तस्वीर भी ट्वीट की है।

नई दिल्ली। दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में लगी भीषण आग ने 43 लोगों की जिंदगियां लील लीं। आग की सूचना पर 30 दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची थी और राहत व बचाव कार्य शुरू किया था। वहीं इस दौरान एक ऐसे दमकलकर्मी थे, जिन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर 11 लोगों की जिंदगी बचाई। इस 'रियल हीरो' का नाम राजेश शुक्ला है। सोशल मीडिया से लेकर हर जगह इस 'रियल हीरो' की जमकर तारिफ हो रही है। खास बात यह है कि आग लगने की सूचना पर जब दमकलकर्मी पहुंचे थे तो सबसे पहले इमारत के भीतर राजेश शुक्ला ही घुसे थे। अपनी जान की परवार किए बगैर वह देवदूत बनकर लोगों को आग से घिरी बिल्डिंग से बाहर निकालने में जुट गए। https://twitter.com/SatyendarJain/status/1203568151134294016 राहत कार्य के दौरान उनके पैर में चोट भी आ गई और एलएनजेपी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। उनकी बहादुरी की दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी तारीफ की है और अस्पताल में उनसे मुलाकात की। इस दौरान दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन भी मौजूद थे। जैन ने ट्वीट किया, 'दमकलकर्मी राजेश शुक्ला असली हीरो हैं। वह पहले फायरमैन हैं जो इमारत में घुसे और 11 जिंदगियां बचाईं। उन्होंने तब तक अपना काम जारी रखा जब तक उनकी खुद की हड्डियां चोटिल नहीं हो गईं। मैं इस बहादुर हीरो को सलाम करता हूं।' उन्होंने राजेश शुक्ला से अपनी मुलाकात की तस्वीर भी ट्वीट की है।