1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली: नौकरी का झांसा देकर नाबालिक से किया गैंगरेप, आरोपी गिरफ्तार

दिल्ली: नौकरी का झांसा देकर नाबालिक से किया गैंगरेप, आरोपी गिरफ्तार

Delhi Gangrape Of A Minor On The Pretext Of Job Accused Arrested

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में हो रहें अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे है। पश्चिम बंगाल से दिल्ली नौकरी की तलाश में आई 16 साल की एक नाबालिग लड़की के साथ वेस्ट दिल्ली में दो लड़कों ने गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। इस घिनौनी वारदात को बसई दारापुर इलाके में स्थित ईएसआई हॉस्पिटल परिसर में अंजाम दिया गया। पीड़िता को 12 घंटे से भी अधिक समय तक यहां एक खाली फ्लैट में बंधक बनाकर रखा गया। इस दौरान दोनों आरोपियों ने नाबालिग लड़की के साथ कई मर्तबा गैंगरेप किया। पुलिस को इस घटना की जानकारी मंगलवार तड़के करीब 3:30 बजे मिली। इसके बाद कार्रवाई कर मोती नगर थाना पुलिस ने दोनों आरोपियों को धर दबोचा।

पढ़ें :- ट्रैक्टर रैली बवालः दिल्ली पुलिस कमिश्नर बोले-हिंसा में शामिल किसी को नहीं छोड़ा जायेगा

मिली जानकारी के मुताबिक, 16 साल की पीड़िता सोमवार दोपहर ईएसआई हॉस्पिटल के सामने शिवाजी पार्क में अकेली बैठी थी। दोपहर करीब 12 बजे दो दरिंदे पार्क में आए। दोनों ने लड़की को यहां अकेले बैठे देखा। कुछ देर तक लड़की की निगरानी करने के बाद उन्होंने यह भांप लिया कि वह अकेली बैठी है और यहां किसी के साथ नहीं आई है। इसके बाद दोनों लड़के उसके पास पहुंचे और उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर ईएसआई हॉस्पिटल परिसर में अपने साथ ले गए।

जानकारी ये भी है कि एक पुराने फ्लैट में दोनों ने नाबालिक के साथ एक के एक उसके साथ रेप किया। इसके बाद दोनों ने पीड़िता को सोमवार-मंगलवार रात 1 बजे के बाद छोड़ा। इस दौरान हॉस्पिटल की ओर से कोई भी सिक्यॉरिटी गार्ड या अन्य स्टाफ उस ओर नहीं फटका। आरोपी 12 घंटे से भी अधिक समय तक लड़की को बंधक बनाकर रेप करते रहे, लेकिन इस दौरान अस्पताल का कोई भी सुरक्षाकर्मी वहां नहीं पहुंचा।

इतना ही नहीं आरोपी लड़की को बदहवास हालत मे छोड़कर भाग गए, तब लड़की वहां से बाहर निकली। इसके बाद हॉस्पिटल के सिक्यॉरिटी सुपरवाइजर की ओर से पुलिस को मंगलवार तड़के करीब 3:30 बजे पीसीआर कॉल की गई। कॉलर ने बताया कि यहां एक लड़की बदहवास हालत में पाई गई है। मौके पर मोती नगर थाने के एसएचओ संदीप कुमार, महिला एसआई रजनी और मनीष समेत कई अन्य पुलिसकर्मी पहुंचे।

बता दें, एसीपी कुमार अभिषेक के नेतृत्व में काम कर रही पुलिस टीम को दो आरोपियों में से एक रवि का पता लग गया। उसे पकड़ लिया गया। बसई दारापुर निवासी 25 साल के रवि ने अपने दूसरे साथी अंकित चौधरी उर्फ वासू के बारे में भी जानकारी दे दी। फिर पुलिस ने 24 साल के अंकित को भी गिरफ्तार कर लिया। वह भी उसी इलाके का रहने वाला है। दोनों ने पुलिस को बताया कि पार्क में अकेली लड़की देखकर उन्होंने यह योजना बनाई थी। दोनों आरोपियों के बारे में यह भी जानकारी जुटाई जा रही है कि क्या इससे पहले भी तो ये दोनों इस तरह से पार्क या अन्य किसी जगह बैठी लड़कियों को अपना शिकार तो नहीं बना चुके हैं!

पढ़ें :- ट्रैक्टर रैलीः कांग्रेस का आरोप, उपद्रवियों को छोड़ संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं पर दर्ज हो रहा मुकदमा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...