दिल्ली सरकार ने मनोज तिवारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के दिए आदेश

manoj tiwari arvind kejriwal
दिल्ली सरकार ने मनोज तिवारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के दिए आदेश

नई दिल्ली। दिल्ली में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के समय मनोज तिवारी और आप विधायक के बीच हुआ विवाद राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। अब दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने भाजपा सांसद मनोज तिवारी और उनके साथ घटनास्थल पर मौजूद रहे पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होने प्रधान गृह सचिव का काम देख रहे अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज परीदा को पत्र लिखकर शिकायत दर्ज कराने का आग्रह किया है।

Delhi Government Directs To File Fir On Bjp Mp Manoj Tiwari :

सत्येन्द्र जैन ने पत्र में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन का का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था। जिसकी नोडल एजेंसी गृह विभाग था। समारोह स्थल पर सुरक्षा के इंतजाम सहित अन्य इंतजामों के लिए सभी संबंधित विभागों और एजेंसियों को पहले से सूचना भेजी जा चुकी थी। इसके बावजूद भी सांसद मनोज तिवारी और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उद्घाटन अवसर पर पहुंचकर कार्यक्रम को अव्यवस्थित करने की कोशिश की। उन्होने इस दौरान वहां उपद्रव फैलाने के साथ ही दिल्ली सरकार के अधिकारियों को उनकी डयूटी करने से रोका। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री की मौजूदगी में ऐसी घटना होना सोचने का विषय है।

जब मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात एक कर्मचारी ने सांसद को समारोह स्थल से चले जाने के लिए कहा तो वे और उनके कार्यकर्ता उग्र हो गए। इसके बाद सांसद ने न केवल कार्यक्रम में बाधा पहुंचाई बल्कि अधिकारियों को भी धमकाया।

नई दिल्ली। दिल्ली में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के समय मनोज तिवारी और आप विधायक के बीच हुआ विवाद राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। अब दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने भाजपा सांसद मनोज तिवारी और उनके साथ घटनास्थल पर मौजूद रहे पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होने प्रधान गृह सचिव का काम देख रहे अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज परीदा को पत्र लिखकर शिकायत दर्ज कराने का आग्रह किया है।सत्येन्द्र जैन ने पत्र में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन का का कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था। जिसकी नोडल एजेंसी गृह विभाग था। समारोह स्थल पर सुरक्षा के इंतजाम सहित अन्य इंतजामों के लिए सभी संबंधित विभागों और एजेंसियों को पहले से सूचना भेजी जा चुकी थी। इसके बावजूद भी सांसद मनोज तिवारी और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उद्घाटन अवसर पर पहुंचकर कार्यक्रम को अव्यवस्थित करने की कोशिश की। उन्होने इस दौरान वहां उपद्रव फैलाने के साथ ही दिल्ली सरकार के अधिकारियों को उनकी डयूटी करने से रोका। उन्होने कहा कि मुख्यमंत्री की मौजूदगी में ऐसी घटना होना सोचने का विषय है।जब मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात एक कर्मचारी ने सांसद को समारोह स्थल से चले जाने के लिए कहा तो वे और उनके कार्यकर्ता उग्र हो गए। इसके बाद सांसद ने न केवल कार्यक्रम में बाधा पहुंचाई बल्कि अधिकारियों को भी धमकाया।