दिल्ली सरकार: कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं रद्द, SC को किया सूचित

pic

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ रहे केस की वजह से दिल्ली सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। कोरोना महामारी के संकट की वजह से दिल्ली में कॉलेज और यूनिवर्सिटीज की परीक्षाएं नहीं होंगी। सीएम केजरीवाल ने राजधानी में सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटीज की इस साल होने वाली सभी परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। सरकार ने इस बारे में SC को भी सूचित किया है।

Delhi Government Examinations Of Colleges And Universities Canceled Sc Informed :

सुप्रीम कोर्ट को किया सूचित

दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित करते हुए कहा कि इस वर्ष राजधानी के सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं को रद्द कर दी गई हैं। UGC ने देशभर के University को फाइनल ईयर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक आयोजित करवाने का निर्देश दिया था, जिसका 31 छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर विरोध किया है। छात्रों ने दलील दी है कि कोरोना काल में सभी जगह हर छात्र के लिए एग्जाम्स में शामिल हो पाना संभव नहीं है। इस मामले पर आज SC में सुनवाई होनी है।

UGC ने जारी की थी गाइडलाइंस

आपको बता दे कि UGC ने कुछ दिन पहले स्कूल-कॉलेज की परीक्षाओं को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई थी। जिसके अनुसार, 30 सितंबर तक परीक्षाएं आयोजित करवानी थी। लेकिन गृह मंत्रालय की अनुमति के बाद यूजीसी ने अपनी गाइडलाइन में संशोधन कर फिन से जारी किया था। जारी गाइडलाइन में ​जुलाई माह में परिक्षाएं करवाने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया था। इसके अलावा फाइनल ईयर की परीक्षाओं को अनिवार्य बताते हुए, इन्हें सितंबर के आखिरी तक करवाने का निर्देश दिया था।

फर्स्ट और सेकेंड ईयर के छात्रों को किया जा सकता है प्रमोट

UGC द्वारा जारी गाइलाइन में यह भी कहा गया था कि अगर कोई छात्र उचित कारण बताकर परीक्षा में शामिल नहीं होता है तो उसे फिर बाद में मौका दिया जाना चाहिए। गाइलाइन में खासतौर से लास्ट ईयर की परीक्षाएं करवाने पर जोर दिया गया था। इसके अलावा यूजीसी ने फर्स्ट और सेकेंड ईयर के छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर भी प्रमोट किए जा सकने की बात भी कही थी।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ रहे केस की वजह से दिल्ली सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। कोरोना महामारी के संकट की वजह से दिल्ली में कॉलेज और यूनिवर्सिटीज की परीक्षाएं नहीं होंगी। सीएम केजरीवाल ने राजधानी में सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटीज की इस साल होने वाली सभी परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला किया है। सरकार ने इस बारे में SC को भी सूचित किया है।

सुप्रीम कोर्ट को किया सूचित

दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को सूचित करते हुए कहा कि इस वर्ष राजधानी के सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाओं को रद्द कर दी गई हैं। UGC ने देशभर के University को फाइनल ईयर की परीक्षाएं 30 सितंबर तक आयोजित करवाने का निर्देश दिया था, जिसका 31 छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर विरोध किया है। छात्रों ने दलील दी है कि कोरोना काल में सभी जगह हर छात्र के लिए एग्जाम्स में शामिल हो पाना संभव नहीं है। इस मामले पर आज SC में सुनवाई होनी है।

UGC ने जारी की थी गाइडलाइंस

आपको बता दे कि UGC ने कुछ दिन पहले स्कूल-कॉलेज की परीक्षाओं को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई थी। जिसके अनुसार, 30 सितंबर तक परीक्षाएं आयोजित करवानी थी। लेकिन गृह मंत्रालय की अनुमति के बाद यूजीसी ने अपनी गाइडलाइन में संशोधन कर फिन से जारी किया था। जारी गाइडलाइन में ​जुलाई माह में परिक्षाएं करवाने की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया था। इसके अलावा फाइनल ईयर की परीक्षाओं को अनिवार्य बताते हुए, इन्हें सितंबर के आखिरी तक करवाने का निर्देश दिया था।

फर्स्ट और सेकेंड ईयर के छात्रों को किया जा सकता है प्रमोट

UGC द्वारा जारी गाइलाइन में यह भी कहा गया था कि अगर कोई छात्र उचित कारण बताकर परीक्षा में शामिल नहीं होता है तो उसे फिर बाद में मौका दिया जाना चाहिए। गाइलाइन में खासतौर से लास्ट ईयर की परीक्षाएं करवाने पर जोर दिया गया था। इसके अलावा यूजीसी ने फर्स्ट और सेकेंड ईयर के छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर भी प्रमोट किए जा सकने की बात भी कही थी।